नई दिल्ली : केन्द्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने कहा कि देश के खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में सरकार की ओर से किये गये नीतिगत सुधारों से इस क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) चालू वित्तवर्ष के दौरान 38 प्रतिशत बढ़कर एक अरब डॉलर हो जाने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष नवंबर में हुए व्यंजन महोत्सव ‘वर्ल्ड फूड इंडिया’ के दौरान 14 अरब डॉलर के निवेश के करारनामे हुए थे। इन पर अमल के प्रयास किये जा रहे हैं। आईटीसी और कारगिल सहित 17 कंपनियों ने निवेश के प्रस्तावों पर जमीनी कार्य शुरु कर दी है।

उन्होंने कहा कि खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेश्साी निवेश बढ़ रहा है जो वर्ष 2016-17 में 72.7 करोड़ डॉलर था। चालू वित्तवर्ष के पहले सात महीनों में ही यह (एफडीआई) 50 करोड़ डॉलर हो चला है और चालू वित्तवर्ष के अंत तक यह एक अरब डॉलर के स्तर को छू जायेगा। हरसिमरत ने कहा कि सरकार द्वारा इस क्षेत्र में किये गये सुधारों के कारण इस क्षेत्र में निवेश बढ़ रहा है जिसके कारण देश में खाद्य प्रसंस्करण का स्तर मौजूदा 10 प्रतिशत से बढ़कर अगले दो तीन सालों में 20-30 प्रतिशत हो जायेगा।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहाँ क्लिक  करें।