शिमला : हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने केंद्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली के वित्त वर्ष 2018-19 के लिये पेश किये गये बजट विकासोन्नमुख बताते हुये इसमें दस करोड़ गरीब परिवारों के लिये राष्ट्रीय स्वास्थय सुरक्षा योजना के तहत गम्भीर बीमारियों के निशुल्क ईलाज के लिये प्रत्येक परिवार को पांच लाख रूपये तक बीमा कवर प्रदान करने तथा किसानों के लिये न्यूनतम समर्थन मूल्य(एमएसपी) में वृद्धि किये जाने जैसे प्रावधानों का स्वागत किया है।

श्री ठाकुर ने कांगड़ जिले की सुलह विधानसभा क्षेत्र के भवारना में आज एक रैली को सम्बोधित करते हुये कहा केंद, सरकार ने राज्य के लिये 69 राष्ट्रीय राजमार्गों को मंजूरी दी थी लेकिन पिछली कांग्रेस सरकार इस सम्बंध में विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करने को लेकर निविदाएं तक आमंत्रित नहीं कर सकी। उन्होंने कहा कि सड़कें राज्य के लोगों के लिये जीवन रेखा हैं तथा बजट में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत 3000 गांवों को जोड़ने की घोषणा से राज्य में सड़क ढांचा मजबूत करने को बढ़वा मिलेगा।

उन्होंने रोहतांग सुरंग का काम जल्द पूरा होने के उल्लेख के लिये भी श्री जेटली का आभार व्यक्त किया। उत्तर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष सतपाल सत्ती ने यहां जारी एक बयान में केंद्रीय बजट को किसान, गरीब, महिलाओं और नये उद्योगों के हित में बताया है। उन्होंने कहा कि बजट जनकल्याण विशेषकर गरीबों के हितों को पूरा करते हुये देश के विकास की गति बढ़ने में सहायक होगा। उन्होंने बजट में एमएसपी के वृद्धि,सड़क एवं सिंचाई सुविधाएं बढ़ने तथा राष्ट्रीय स्वास्थय सुरक्षा योजना के गम्भीर बीमारियों के इलाज के लिये तहत दस करोड़ निर्धतम परिवारों के लिये पांच-पांच लाख रूपये के बीमा कवर के प्रावधानों का भी स्वागत किया। पार्टी के शिमला से सांसद वीरेंद, कश्यप ने केंद्रीय बजट की सराहना करते हुये इसमें प्याज, टमाटर और आलू उत्पादकों के हितों के संरक्षण हेतु‘ऑपरेशन ग्रीन’शुरू करने के लिये 500 करोड़ रूपये तथा खाद्य प्रसंस्करण हेतु बजटीयस प्रावधानों में इजाफा करने का स्वागत किया और कहा कि इससे राज्य के किसानों को भी फायदा होगा।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहाँ क्लिक  करें।