बीएस-तीन वाहनों पर प्रतिबंध से 10,000 से अधिक वाहन प्रभावित: अशोक लेलैंड

0
34

चेन्नई: अशोक लेलैंड ने आज कहा कि बीएस-तीन मानक वाले वाहनों पर उच्चतम न्यायालय के प्रतिबंध का असर उसके 10,664 वाणिज्यिक वाहनों पर हुआ है। इसके साथ ही कंपनी का कहना है कि प्रभावित इंजिनों को बिक्री के लिए उन्नत किया जाएगा इसलिए वित्तीय असर बहुत ही कम होगा।

हिंदुजा समूह की कंपनी अशोक लेलैंड के प्रबंध निदेशक विनोद दसारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया,’ बीएस-तीन माकन वाली कुल 10664 इकाइयों में से 95 प्रतिशत हमारे पास ही थीं न कि डीलरों के पास। हम इनके इंजिनों को अपनी आईईजीआर प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करते हुए अद्यतन करेंगे।’ उन्होंने कहा कि आईईजीआर प्रौद्योगिकी लगाने की लागत सिफ 20,000 रुपये प्रति इंजिन आएगी। इन इंजिनों को अलग से बेच जाएगा।

दसारी ने कहा,’ हम इन इंजिनों को लगभग दो लाख रऊपये के हिसाब से बेच सकते हैं जबकि बीएस-तीन इंजिन की कीमत 1.5 लाख रुपये पड़ती है। इस तरह से बीएस-3 वाहनों पर प्रतिबंध से पडऩे वाला वित्तीय प्रभाव न्यूनतम होगा।’ हालांकि उन्होंने आईईजीआर प्रौद्योगिकी का ब्यौरा नहीं दिया। उन्होंने कहा कि बीएस-चार नियमों के अनुरूप परिणाम हासिल कारने के लिए यह सरल नवोन्मेषी समाधान है।

(भाषा)

LEAVE A REPLY