निफ्टी शीर्ष स्तर से फिसला, सेंसेक्स भी 130 अंक टूटा

0
61

मुंबई: विदेशी बाजारों से मिले मिश्रित रुख के बीच घरेलू स्तर पर आईटी, टेक और बैंकिग क्षेत्र की कंपनियों में बिकवाली से आज निफ्टी तथा सेंसेक्स शीर्ष स्तर से फिसल गये।

पिछले कारोबारी दिवस में अब तक के दूसरे उच्चतम स्तर पर बंद होने वाला बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 0.44 प्रतिशत यानी 130.25 अंक टूटकर 29,518.74 अंक पर आ गया। निफ्टी भी अब तक के शीर्ष स्तर से 0.36 प्रतिशत यानी 33.20 अंक उतरकर 9,126.85 अंक पर आ गया।

डॉलर की तुलना में रुपये में पिछले कुछ दिनों से जारी तेजी के कारण आईटी और टेक कंपनियों पर दबाव है। सेंसेक्स पर इंफोसिस का दबाव सर्वाधिक रहा। इसके शेयर 1.87 प्रतिशत उतर गये। बैंङ्क्षकग कंपनियों में भी बिकवाली का जोर रहा। सेंसेक्स में सबसे ज्यादा 2.41 प्रतिशत की गिरावट एक्सिस बैंक में रही। आईसीआईसीआई बैंक के शेयर भी दो प्रतिशत टूटे।

वोडाफोन के आइडिया में विलय की घोषणा के बाद पहले तो आइडिया के शेयर 14 प्रतिशत से ज्यादा चढ़ गये, लेकिन बाद में इसमें 14 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट रही। सेंसेक्स 4.55 अंक की बढ़त में 29,653.54 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 29,699.48 अंक के दिवस के उच्चतम और 29,482.40 अंक के दिवस के निचले स्तर को छूने के बाद यह गत दिवस की तुलना में 130.25 अंक टूटकर 29,518.44 अंक पर बंद हुआ।

निफ्टी 6.90 अंक की तेजी में 9,166.95 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान इसका उच्चतम स्तर 9,167.60 अंक तथा निचला स्तर 9,116.30 अंक रहा। बिकवाली के दबाव में गत कारोबारी दिवस के मुकाबले 33.20 अंक उतरकर यह 9,126.85 अंक पर रहा।

बड़ी कंपनियों के विपरीत मझौली तथा छोटी कंपनियों में लिवाली रही। बीएसई का मिडकैप 0.17 प्रतिशत की तेजी के साथ 13,916.79 अंक पर तथा स्मॉलकैप 0.30 प्रतिशत चढ़कर 14,054.99 अंक पर पहुँच गया। बीएसई की 3,023 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें से 1,442 में गिरावट तथा 1,353 में तेजी रही जबकि 228 के शेयर उतार-चढ़ाव से होते हुये अंतत: गत दिवस के स्तर पर ही बंद हुये।

विदेशी बाजारों में मिलाजुला रुख रहा। एशिया में जापान का निक्की तथा दक्षिण कोरिया का कोस्पी दोनों 0.35 प्रतिशत लुढ़क गये। हांगकांग का हैंगसेंग 0.79 फीसदी और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.40 प्रतिशत की गिरावट में रहे। यूरोप में ब्रिटेन का एफटीएसई भी शुरुआती कारोबार में 0.19 प्रतिशत टूटा।

बीएसई के 20 में से 10 समूहों में तेजी और 10 में गिरावट रही। आईटी समूह में सबसे ज्यादा 1.36 प्रतिशत की गिरावट रही। टेक समूह का सूचकांक 1.23 प्रतिशत और दूरसंचार समूह का 1.11 प्रतिशत फिसल गया। इसके अलावा बेसिक मटिरियल्स, एनर्जी, इंडस्ट्रियल्स, बैंकिग, पूँजीगत वस्तुएँ, धातु और तेल एवं गैस समूह भी गिरावट में रहे।

सबसे ज्यादा 1.03 फीसदी की तेजी टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद में देखी गयी। इसके अलावा सीडीजीएंडएस, एफएमसीजी, फाइनेंस, स्वास्थ्य, यूटिलिटीज, ऑटो, पीएसयू, पावर तथा रियलिटी में भी तेजी रही। सेंसेक्स की 30 में से 15 कंपनियाँ लाल निशान में तथा अन्य 15 हरे निशान में रहीं।

सबसे ज्यादा 2.41 प्रतिशत का नुकसान एक्सिस बैंक ने उठाया। आईसीआईसीआई बैंक के शेयर 1.99 प्रतिशत, इंफोसिस के 1.87, टीसीएस के 1.82, विप्रो के 1.59, रिलायंस इंडस्ट्रीज के 1.56, टाटा स्टील के 1.06, एलएंडटी के 0.80, पावर ग्रिड के 0.51, हिदुस्तान यूनिलिवर तथा मारुति सुजुकी दोनों के 0.40, महिद्रा एंड महिद्रा के 0.20, हीरो मोटोकॉर्प के 0.16, टाटा मोटर्स के 0.06 तथा भारतीय स्टेट बैंक के 0.04 प्रतिशत की गिरावट में रहे।

एनटीपीसी के शेयर सबसे ज्यादा 0.87 प्रतिशत चढ़े। कोल इंडिया में 0.76, भारती एयरटेल में 0.76, एचडीएफसी बैंक में 0.63, ल्युपिन में 0.62, एचडीएफसी में 0.53, ओएनजीसी में 0.37, गेल में 0.33, आईटीसी में 0.32, एशियन पेंट्स में 0.25, अदानी
पेंट्स में 0.18, डॉ. रेड्डीज लैब में 0.17 और सनफार्मा, सिप्ला तथा बजाज ऑटों तीनों में 0.08 प्रतिशत की बढ़त रही।

(वार्ता)

LEAVE A REPLY