SBI का मिनीमम बैलेंस चार्ज घटा


State Bank of India

नई दिल्ली : भारतीय स्टेट बैंक ने खाते में न्यूनतम बैलेंस से कम पैसे होने पर लगने वाले शुल्क में 75 प्रतिशत तक की कमी करने की घोषणा की है। नई दरें 01 अप्रैल से लागू की जायेंगी। बैंक ने बताया कि ग्रामीण इलाकों में, जहां न्यूनतम बैलेंस एक हजार रुपये है, सबसे ज्यादा 75 प्रतिशत की कटौती की गयी है। पहले इन इलाकों में खाते में जमा औसत राशि न्यूनतम बैलेंस के 50 प्रतिशत तक रह जाने पर 40 रुपये, 25 प्रतिशत तक रह जाने पर 30 रुपये और 25 प्रतिशत से कम होने पर 20 रुपये प्रति माह शुल्क लगता था। अब इन्हें घटाकर क्रमश: 10 रुपये, 7.50 रुपये और पाँच रुपये प्रतिमाह कर दिया गया है।

अर्द्धशहरी इलाकों में न्यूनतम बैलेंस दो हजार रुपये है। इन इलाकों में जमा राशि न्यूनतम बैलेंस के 50 प्रतिशत तक रह जाने पर अब 20 की जगह 7.50 रुपये, 25 प्रतिशत तक रह जाने पर 30 की जगह 10 रुपये और 25 प्रतिशत से कम होने पर 20 की जगह 7.50 रुपये प्रतिमाह शुल्क लगेगा। महानगरीय और शहरी क्षेत्र में न्यूनतम बैलेंस तीन हजार रुपये है। बैलेंस न्यूनतम बैलेंस के 50 प्रतिशत तक रह जाने पर शुल्क 30 रुपये से घटाकर 10 रुपये, 25 प्रतिशत तक रह जाने पर 40 रुपये से घटाकर 12 रुपये और 25 प्रतिशत से कम होने पर 50 रुपये से घटाकर 15 रुपये प्रति माह शुल्क का प्रावधान किया गया है। बैंक के प्रबंध निदेशक (खुदरा एवं डिजिटल बैंकिंग) पी. के. गुप्ता ने कहा कि बैंक ने इन दरों में यह कटौती ग्राहकों से मिली प्रतिक्रिया एवं उनकी भावनाओं को ध्यान में रखते हुए की है।

इसके अलावा बैंक अपने ग्राहकों को उनके नियमित बचत खाते को प्राथमिक बचत बैंक जमा खाते (बीएसबीडी) में परिवर्तित कराने का विकल्प भी दे रहा है। इन खातों में जमा राशि कम होने पर भी दंड नहीं लगता। प्रधानमंत्री जन धन योजना औऱ साधारण बचत खाता जमा यानी बीएसबीडी पर कोई शुल्क नहीं लगेगा। इस समय बैंक के कुल 41 करोड़ बचत खाते हैं जिसमें से 16 करोड़ प्रधानमंत्री जनधन योजना, बीएसबीडी, पेंशनधारकों, छोटे बच्चो और सामाजिक सुरक्षा का फायदा पाने के लिए खोले गए खाते हैं। ऐसे खातों पर हर महीने कम से कम एक निश्चित रकम रखने की कोई शर्त नहीं है। इसीलिए शुल्क की व्यवस्था के दायरे में सिर्फ 25 करोड़ खाते आएंगे। बैंक न्यूनतम बैलेंस की सीमा घटाने पर भी विचार कर रहा है, लेकिन अभी इस पर कोई अंतिम फैसला नहीं किया गया है।

हमारी मुख्य खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें।