नई दिल्ली : खुदरा क्षेत्र की प्रमुख अमेरिकी कंपनी वालमार्ट इंक फ्लिपकार्ट का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) ला सकती है। वालमार्ट ऐसा सौदा पूरा होने के चार साल बाद ही कर सकती है। पिछले हफ्ते वालमार्ट ने फ्लिपकार्ट में 77% हिस्सेदारी खरीदने की घोषणा की थी। इस पर वह 16 अरब डॉलर यानी 1.05 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेगी। इससे अमेरिकी कंपनी की भारत के ई-वाणिज्य क्षेत्र में पहुंच हो जाएगी। जिसके एक दशक के भीतर 200 अरब डॉलर तक की वृद्धि करने का अनुमान है।

अमेरिका के शेयर बाजार नियामक एसईसी को दी जानकारी में कंपनी ने बताया कि इस सौदे के लिए होने वाले ‘रजिस्ट्रेशन राइट्स एग्रीमेंट’ का सौदा पूरा होने के चार साल बाद वह फ्लिपकार्ट का आईपीओ ला सकती है। वालमार्ट ने कहा कि आईपीओ के लिए फ्लिपकार्ट का मूल्यांकन उसके द्वारा किए गए मूल्यांकन से कम नहीं होगा। हालांकि इससे जुड़े सीधे सूत्र ने बताया कि जापान के सॉफ्टबैंक ने फ्लिपकार्ट में अभी अपनी 20-22 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने पर निर्णय नहीं किया है।

अधिक जानकारियों के लिए यहाँ क्लिक करें।