• महबूबाःआतंक का राग क्यों?

    जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमन्त्री महबूबा मुफ्ती के इस बयान को कोई कश्मीरी तक गंभीरता के साथ नहीं लेगा कि यदि उनकी पार्टी पीडीपी में नई...

  • शशि थरूर की गफलत!

    कांग्रेस सांसद शशि थरूर के बयान पर जो हाय-तौबा मच रही है उसका मन्तव्य क्या साम्प्रदायिक आधार पर मतदाताओं का ध्रुवीकरण करना है? इस प्रश्न...

  • समलैंगिकता के ‘विषम’ परिणाम

    सर्वोच्च न्यायालय में समलैंगिक व बहु-काम सम्बन्धों (एलजीबीटी) को लेकर जो बहस चल रही है उसके बारे में सबसे पहले यह समझा जाना जरूरी है...

  • शरीया अदालतें या सियासी साजिश!

    भारत की धार्मिक विविधता के बीच बनी सामाजिक संरचना में महिलाओं के प्रति व्यवहार और सम्मान में एकरूपता का न होना विभिन्न समुदायों में उसकी...

  • नीतीश बाबू–नौकरी में ना कैसी !

    लोक व्यवहार का सामान्य नियम होता है कि जिस परिवार के प्रतिष्ठित बुजुर्ग को उसके अपने घर में ही उपेक्षित किया जाता है उस परिवार...

  • कश्मीर में हम क्या करें?

    जम्मू-कश्मीर राज्य के बारे में पिछले लगभग 30 साल से केन्द्र की विविध सरकारों की जो नीति चली आ रही है क्या उसमें कहीं कोई...

  • हम हिन्द के वासी एक हैं!

    जो लोग भारत की राजनीति को नाजायज मुल्क पाकिस्तान की मजहबी तास्सुब की सियासत में तब्दील करने की साजिशें रच रहे हैं उन्हें आ​िखर में...

  • पाकिस्तान में सियासी जलजला !

    पड़ोसी देश पाकिस्तान में एक बार फिर लोकतन्त्र को पटरी से उतारने की प्रक्रिया शुरू हो गई है मगर इस बार यह कानून का जामा...

  • किसान और समर्थन मूल्य

    सरकार ने खरीफ की फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य अधिक घोषित करते हुए कहा है ​िक इससे किसानों की लागत का डेढ़ गुना मूल्य सुनिश्चित...

  • दिल्ली के दंगल का फैसला !

    दिल्ली के सत्ता के संघर्ष के सन्दर्भ में इस अर्द्धराज्य की केजरीवाल सरकार की याचिका पर सर्वोच्च न्यायालय ने आज जो फैसला दिया है उससे...

  • उड़ते पंजाब का काला सच

    पंजाब में नशे की तस्वीरें खौफनाक होती जा रही हैं। ड्रग आेवरडोज की वजह से एक माह में 24 युवाओं की मौत पर सवाल उठ...

  • जीएसटी और आम आदमी

    देश में वस्तु एवं सेवाकर यानि जीएसटी लागू होने की पहली वर्षगांठ पर जीएसटी दिवस मनाया गया। हमारी संसद में आधी रात का सत्र बेहद...

  • बेरोजगारी का विस्फोट रोको!

    जिस देश में रेलवे की 90 हजार नौकरियों के लिए दो करोड़ 37 लाख अभ्यर्थियों के प्रार्थना पत्र आते हों उस देश के आर्थिक विकास...

  • कालेधन का अट्टहास

    हां मैं कालाधन हूं मुझमें काला निकाल दो तो केवल धन हूं फिर भी लोग मेरा मजाक उड़ाते हैं काला, काला, काला कह के उसमें...

  • खाद्य मिलावट की तलवार!

    विदेशी बहुराष्ट्रीय कम्पनियां भारत के विशालकाय खाद्य उपभोक्ता बाजार को अपने कब्जे मंे लेने के लिए किस तरह भारत की ही कानून-व्यवस्था के तहत इसके...

  • खाद्य मिलावट की तलवार !

    विदेशी बहुराष्ट्रीय कम्पनियां भारत के विशालकाय खाद्य उपभोक्ता बाजार को अपने कब्जे में लेने के लिए किस तरह भारत की ही कानून-व्यवस्था के तहत इसके...

  • अयोध्या विवाद की राजनीति?

    श्रीराम मन्दिर निर्माण को लेकर जिस प्रकार की भावुक राजनीति की जा रही है उसका आम जनता पर कोई असर इसलिए नहीं हो सकता क्योंकि...

  • अयोध्या विवाद की राजनीति?

    श्रीराम मन्दिर निर्माण को लेकर जिस प्रकार की भावुक राजनीति की जा रही है उसका आम जनता पर कोई असर इसलिए नहीं हो सकता क्योंकि...