सीबीएसई पेपर लीक मामले में दिल्‍ली पुलिस ने तीन और लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इन तीनों को 12वीं के इकोनॉमिक्स के हैंड रिटेन पेपर लीक मामले में गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इन तीनों को हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले से गिरफ्तार किया है। ये तीनों एक स्कूल के कर्मचारी हैं।

खबरों के मुताबिक , अर्थशास्त्र के पेपर लीक मामले में पुलिस ने एक टीचर, क्लर्क और स्कूल स्टाफ को गिरफ्तार किया है। टीचर का नाम राकेश, क्लर्क का नाम अमित और तीसरे आरोपी का नाम अशोक स्कूल में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी है। परीक्षा के दौरान टीचर अशोक सेंटर का सुप्रीन्टेंडेंट था। पुलिस ने हिमाचल के ऊना जिले से इन तीनों को गिरफ्तार किया है।

इन सभी पर आरोप है कि इन्होंने पेपर लीक किया था और इन्होंने हाथों से लिखा पेपर लीक किया था। अर्थशास्त्र का पेपर दो दिन पहले लीक हो गया था। हालांकि, आरोपों की पुष्टि होनी बाकी है। वहीं, माना जा रहा है कि तीनों से पूछताछ में महत्वपूर्ण जानकारी सामने आ सकती है, जो जांच को अंजाम तक पहुंचाएगी। यहां पर याद दिला दें कि पिछले महीने की 26 मार्च को 12वीं कक्षा की अर्थशास्त्र की परीक्षा हुई थी, लेकिन प्रश्नपत्र लीक होने के कारण सीबीएसई ने परीक्षा रद कर दी थी।

इससे पहले पिछले सप्ताह शनिवार को क्राइम ब्रांच के मुताबिक आरोपियों की पहचान निजी स्कूल के शिक्षकों ऋषभ और रोहित के तौर पर की गई है, जबकि तौकीर नाम का तीसरा आरोपी बवाना में एक कोचिंग सेंटर में ट्यूटर है। पुलिस के मुताबिक पेपर के फोटो के साथ ही उसकी हाथ से लिखी हुई कॉपी भी सर्कुलेट हो रही थी। दिल्ली पुलिस ने ट्यूटर और दो शिक्षकों को शनिवार को हिरासत में लिया था, फिर बाद में गिरफ्तार कर लिया था।

वहीं, सीबीएसई ने पेपर लीक मामले में अर्थशास्त्र परीक्षा की नई तारीख का ऐलान कर दिया है। 12वीं के अर्थशास्त्र विषय की परीक्षा 25 अप्रैल को आयोजित की जाएगी।

पेपर लीक मामले में दिल्ली पुलिस ने दो मामले दर्ज किए हैं। अर्थशास्त्र का पेपर लीक होने के संबंध में पहला मामला 27 मार्च को और गणित का पेपर लीक होने का मामला 28 मार्च को दर्ज किया गया। सीबीएसई के 12वीं बोर्ड की अर्थशास्त्र और 10वीं बोर्ड की गणित की परीक्षा क्रमश: 26 मार्च और 28 मार्च को हुई थी। मामले की जांच के लिए पुलिस के दो उपायुक्तों, चार सहायक पुलिस आयुक्तों और पांच निरीक्षकों का एक विशेष जांच दल गठित किया गया है। यह दल संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) की निगरानी में काम कर रहा है।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।