औरंगाबाद से मुंबई एक धड़कता दिल 323.5 किलोमीटर की दूरी को आसानी से पूरा करके एक चार साल की मासूम बच्ची के लिए नई जिंदगी बना। इस जिंदा हार्ट को लाने के लिए केवल एक घंटा 94 मिनट का ही वक्त लगा। बच्ची के अंदर इस हार्ट का सफलतापूर्वक ट्रांसप्लांट किया गया।

फोर्टिस हॉस्पिटल की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि जालना की रहने वाली बच्ची का ऑपरेशन सफल रहा और उसे डॉक्टरों की देखरेख में रखा गया है। हॉस्पिटल की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि सड़क दुर्घटना में मारे गए 13 वर्षीय लड़के का जिंदा दिल शुक्रवार को औरंगाबाद के एमजीएम अस्पताल में मिला। यहां से 1:50 बजे औरंगाबाद हवाई अड्डे के लिए दिल भेजा गया।

हवाई अड्डे तक ग्रीन कॉरिडोर के जरिये 4.8 किलोमीटर का रास्ता चार मिनट में तय किया गया और 1:54 मिनट पर पहुंच गया। इसके बाद एक चार्टर्ड फ्लाइट से 3:05 बजे मुंबई हवाई अड्डे पर दिल पहुंचा। यहां से 19 मिनट में 18 किलोमीटर दूर फोर्टिस अस्पताल तक एक ग्रीन कॉरिडोर के जरिये पहुंचाया गया।

हमारी मुख्य खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें।