बैसाखी पर पाकिस्तान गई सिख महिला ने मुस्लिम युवक से रचाई शादी, कबूल किया इस्लाम !


kiran bala

पाकिस्तान में बैशाखी के जश्न में शामिल होने गई भारतीय सिख महिला ने लाहौर में एक व्यक्ति से शादी कर ली और इस्लाम स्वीकार कर लिया

पाकिस्तानी अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार पंजाब के होशियारपुर जिले के मनोहर लाल की बेटी किरण बाला ने पाकिस्तानी विदेश विभाग को चिट्ठी लिखी है। इस चिट्ठी में उसने कहा है कि उसने वहां पर लाहौर के मोहम्मद आजम से 16 अप्रैल को शादी कर ली है ऐसे में उसके वीजा की अवधि बढ़ाई जाए।

अखबार के अनुसार, दोनों की शादी लाहौर के जामिया नेइमिया सेमिनरी में हुई। किरण बाला ने अपना नाम बदलकर आमना बीबी कर लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक, विदेश विभाग को भेजी चिट्ठी में महिला ने इसी नाम से हस्ताक्षर भी किए हैं।

स्थानीय मीडिया में आई रिपोर्ट के अनुसार चिट्ठी में लिखा गया है, ‘मौजूदा परिस्थितियों में महिला को भारत वापस नहीं भेजा जा सकता। महिला को हत्या की धमकी मिली है, इसलिए वह अपनी वीजा अवधि बढ़ाना चाहती है।’ इस मुद्दे पर पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय या भारतीय उच्चायोग की तरफ से कोई टिप्पणी नहीं आई है।

बता दे कि पाकिस्‍तान के विदेश मंत्रालय के पास इससे जुड़ी एक और एप्‍लीकेशन दायर की। किरन बाला ने लिखा है कि उसने अपनी मर्जी से लाहौर निवासी मोहम्मद आजम से निकाह किया और वह 21 अप्रैल को भारत लौटने वाले जत्थे के साथ वापस नहीं जाएगी। इसमें यह भी लिखा है कि उसके वीजा की अवधि 21 अप्रैल को खत्म हो रही है, इसलिए उसे अगले तीन महीने का वीजा दिया जाए, ताकि वह पाकिस्तान में रह सके।

गढ़शंकर निवासी किरण बाला की उम्र 31 साल है। सूत्रों के मुताबिक किरण बाला ने 16 अप्रैल को लाहौर मस्जिद में निकाह करवाया और उसी दिन से ही वह भारतीय सिख जत्थे से अलग होकर भाग निकली थी। उस की तलाश में पाकिस्तान की ख़ुफिया एजेंसियां व पुलिस अधिकारी लाहौर, ननकाना साहिब और पंजा साहब में छापेमारी कर रहे थे। इसी दौरान उसने वीजा के लिए अर्जी लगा दी।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।