आखिर चोटी काटने वाली चुड़ैल का सच सामने आ गया सुनकर आपके होश उड़ जायेंगे


देश में चोटी काटने का खौफ काफी दिनों से चल रहा है। देश के कई राज्यों में चोटी काटने का खौफ है। चोटी कटने के मामले हर रोज ही किसी न किसी शहर से आ ही रही हैं। बता दें कि चोटी काटने की पहले शुरूआत राजस्थान में हुई थी। राजस्थान में तो चोटी काटने की दहशत पूरे राज्य में फैल गई है। यह बोला जा रहा है कि चोटी काटने के पीछे चुड़ैल का हाथ है। पूरे राजस्थान में यह बात फैल गई कि चोटी कोई चुड़ैल काट रही है। बताते हैं आपको आखिर क्या है पूरा मामला।

आपको बताते हैं कि इसकी शुरूआत आखिर हुई कहां से थी। राजस्थान के नोखा तहसील में पहली वारदात हुई। 12 जून को महिला अपनी बेटी के साथ घर की छत पर सो रही थी। अचानक से आधी रात को चिल्लाने की आवाज आई देखा तो महिला की बेटी का चेहरा पीला हुआ था और महिला के बाल कटे हुए थे। बता दें कि महिला के हाथ में अजीब से निशान भी थे।

आपको बता दें कि महिला की यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं और जितने भी आस-पास के गांव के सभी लोगों को बाल काटे जाने की इस खबर से डर लग गया है। यह बात पूरे राजस्थान में फैल गई है और लोगों के मन में दहशत फैल गई है। अब तो लोग चुड़ैल के डर से रात में पहरा भी देने लगे हैं।

जयपुर के मनोचिकित्सक गौरव राजेंद्र का कहना है की ये मास हिस्टीरिया है, मास हिस्टीरिया के ज्यादातर मामलों में अफवाह बिना किसी उद्देश्य के फैलाई जाती है। यह एक बर्फ की गेंद जैसा है। जैसे कि बर्फ की एक छोटी सी गेंद हम ढलान से लुढ़काते हैं तो उस पर तेजी से और बर्फ चिपकती जाती है, धीरे-धीरे यह और बड़ा रूप लेती जाती है, इसे अंग्रेजी में स्नो बॉल इफेक्ट कहते है, वहीं पुलिस का कहना है की ये कोरी अफवाह है।