बच्चों की मौत के बाद हड़कम्प


­रायपुर : प्रदेश के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल भीमराव अम्बेडकर अस्पताल में 6 बच्चों की मौत के बाद हड़कम्प मच गया है इस घटना के बाद मृतक बच्चों के परिजनों ने अस्पताल में हंगामा शुरू कर दिया है, परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों की लापरवाही के चलते 24 घंटे के अन्दर 6 बच्चों की मौत हुई है। वहीं अस्पताल प्रबंधन ने पिछले 24 घंटों में चार बच्चों की मौत की बात कही है।

अस्पताल अधीक्षक डॉ विवेक चौधरी का कहना है कि प्रतिदिन तीन से चार बच्चों की मौत होती है। बच्चों को सीरियस कंडीशन में अस्पताल में रखा जाता है। प्रतिदिन काफी ऐसे बच्चे आते है, जिसमें से ज्यादातर बच्चे ठीक होकर ही जाते है। इस मामले में अब तक कोई लापरवाही का अंदेशा नहीं है।

वहीं घटना के बाद कलेक्टर ने इस मामले को गंभीरता से लिया और नायब तहसीलदार को अस्पताल जाने के निर्देश दियें। जिसके बाद नायब तहसीलदार एसके सिन्हा अस्पताल पहुंचे और उन्होंने भी शुरूआती बातचीत के दौरान अस्पताल में चार बच्चों के मौत की पुष्टि की है। बताया जा रहा है कि बच्चों को वार्ड नंबर 1 में भर्ती कराया गया था, जिसमें कि एक के बाद एक 6 बच्चों की मौत हो गई।

आज सुबह एक 14 वर्षीय किशोर मोहम्मद मोहसिन ने दम तोड़ दिया। उसे कल उल्टी दस्त की शिकायत पर अस्पताल में भर्ती किया गया था। वहीं इस घटना के बाद से ही अस्पताल में तनाव की स्थिति बनी हुई है, हंगामे को देखते हुए वहा सुरक्षा के लिए पुलिस कर्मियों को भी तैनात कर दिया गया है। गौरतलब है कि इसके पहले भी ऑक्सीजन सप्लाई में लापरवाही के चलते इसी अस्पताल में 3 बच्चों ने दम तोड़ दिया था। हालांकि प्रबंधन ने बच्चों की मौत के पीछे आक्सीजन सप्लाई की बाधा को मानने से इंकार कर दिया था।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।