पूरी ताकत के साथ तैयार रहे वायुसेना : वायुसेना प्रमुख


कश्मीर में भारत-पाक सीमा के बीच चल रहे गतिरोध के बीच कारगिल विजय दिवस के मौके पर भारतीय वायुसेना प्रमुख बी. एस. धनोआ ने कहा है कि वायु सेना किसी भी परिस्थिति के लिए तैयार रहे। एयर चीफ मार्शल धनोआ से जब कारगिल विजय दिवस को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने पहले कहा कि कारगिल जैसा युद्ध अब नहीं होगा।

साथ ही ये भी कहा कि दो मोर्चों पर युद्ध करने के लिए हमारे पास जितनी ताकत होनी चाहिए, वो कम है। विजय दिवस के मौके पर बी.एस. धनोआ ने वायु सेना को संदेश देते हुए कहा है कि वायु सेना को सभी क्षमताओं के साथ तैयार रहना होगा। उन्होंने बताया कि 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान भारतीय वायुसेना की ताकत में जो कमियां थीं, वो दूर हो गई हैं।

Source

उन्होंने कहा कि दिन में हमला करने की हमारी ताकत पहले से बढ़ गई है। अब वायुसेना के पास यूएवी आ गए हैं। वहीं मानव रहित विमान से छोटी से छोटी पोस्ट को चिन्हित करने की ताकत भी वायुसेना ने हासिल कर ली है। उन्होंने बताया ”कारगिल युद्ध की शुरुआत में पहले हम रेकी कर रहे थे और उसके बाद हम बमबारी की भूमिका में आए।

पहले हम दिन में ऊंचाई से बम गिरा रहे थे। फिर हमनें रात में बम गिराने का फैसला किया। पाकिस्तान के पास के जो मिसाइल थीं, वो रात में काम नहीं कर सकती थीं। जिसके बाद हमारी तरफ से दिन-रात हमले किए गए। रात में हमारी बमबारी से पाकिस्तान से हौसले पस्त हो गए।” इससे पहले एयर चीफ धनोआ ने कारगिल विजय दिवस पर कारगिल शहीदों को याद किया और उन्हें श्रद्घांजलि भी दी।