2जी स्पेक्ट्रम घोटाले में कोर्ट ने आज हैरान कर देने वाला फैसला सुनाया है कोर्ट ने घोटाले के सभी आरोपियों को बरी किया। वही , सरकारी वकील का कहना है कि सबूत के कमी के चलते कोर्ट ने सभी को बरी किया। जज ओपी सैनी ने कहा कि अभियोजन पक्ष यह साबित करने में नाकाम रहा है कि दो पक्षों के बीच पैसे का लेन देन हुआ है।

बता दें कि कोर्ट के फैसले से पहले परिसर में भारी भीड़ थी। जज सैनी ने भीड़ के चलते आरोपियों के कोर्ट न पहुंच पाने के चलते कार्यवाही स्थगित कर दी। फिर जब दोबारा कार्यवाही शुरू हुई तो उन्होंने अपने एक लाइन के फैसले में कहा कि सरकारी वकील आरोप साबित करने में नाकाम रहे हैं।

बता दे कि  इस मामले में पूर्व दूरसंचार मंत्री ए. राजा, द्रमुक सांसद कनिमोई, रिलायंस अनिल धीरूभाई अंबानी समूह (एडीएजी), यूनिटेक लिमिटेड, डीबी रीयल्टी व अन्य पर आरोप हैं।

वही , मामले में अंतिम सुनवाई 19 अप्रैल को हुई थी जिसके बाद अदालत ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

आपको बता दे कि यूपीए सरकार के समय हुए 1.76 लाख करोड़ के इस घोटाले में विशेष सीबीआई न्यायाधीश ओ पी सैनी सीबीआई और ईडी द्वारा दर्ज अलग-अलग मामलों में फैसला सुनाया हैं। 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले में सुनवाई छह साल पहले 2011 में शुरू हुई थी, जब अदालत ने 17 आरोपियों के खिलाफ आरोप तय किए थे।

साल 2010 में सीएजी (महालेखाकार और नियंत्रक) की एक रिपोर्ट आई थी। इस रिपोर्ट में साल 2008 में बांटे गए स्पेक्ट्रम पर सवाल किए गए थे। रिपोर्ट में बताया गया था कि स्पेक्ट्रम की नीलामी नहीं की गई, बल्कि इसे कंपनियों को ‘पहले आओ, पहले पाओ’ के आधार पर बांटा गया था। इससे सरकार को एक लाख 76 हजार करोड़ रुपए का घाटा हुआ था।

जानिए , 2G केस के प्रमुख आरोपी
> ए राजा, पूर्व दूरसंचार मंत्री
> सिद्धार्थ बेहुरा, पूर्व दूरसंचार सचिव
> आरके चंदोलिया, आईईएस अधिकारी, दूरसंचार मंत्री के पीएस
> शाहिद उस्मान बलवा, प्रबंध निदेशक, स्वान टेलीकॉम प्राइवेट लिमिटेड, अब एटिसलाड डीबी
> टेलीकॉम प्राइवेट लिमिटेड में
> हरि नायर, उपाध्यक्ष, रिलायंस एडीए समूह
> रिलायंस टेलीकॉम लिमिटेड
> असिफ बलवा, निदेशक, कुसेगांव फ्रूट एंड वेजटेबल्स प्राइवेट लिमिटेड
> राजीव अग्रवाल, निर्देशक कुसेगांव फ्रूट एंड वेजटेबल्स प्राइवेट लिमिटेड
> करीम मोरानी, ​​निदेशक, एमआईएस सिनेयुग मीडिया एंड एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड
> शरद कुमार, निदेशक / प्रवर्तक, कलैगनार टीवी प्राइवेट लिमिटेड
> विनोद गोयनका, स्वान टेलीकॉम प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक और डीबी रियल्टी के प्रबंध निदेशक
> स्वान टेलीकॉम प्राइवेट लिमिटेड
> संजय चंद्रा, मैनेजिंग डायरेक्टर, यूनिटेक लिमिटेड
> यूनिटेक वायरलेस लिमिटेड (तमिलनाडु)
> गौतम दोशी, समूह के प्रबंध निदेशक, रिलायंस एडीए समूह
> सुरेंद्र पिपारा, समूह अध्यक्ष, रिलायंस एडीए समूह
> आईपी खेतान, प्रमोटर, खेतान समूह
> किरण खेतान, पूर्व निदेशक, सांता ट्रेडिंग प्राइवेट लिमिटेड
> विकास सराफ, निदेशक रणनीति, एस्सार
> लूप टेलीकॉम लिमिटेड
> लूप मोबाइल लिमिटेड
> एस्सार टेलीहोल्डिंग लिमिटेड
> कनिमोझी करुणानिधि, निदेशक / प्रवर्तक, कलैगनार टीवी प्राइवेट लिमिटेड
> रवि केंट रुइया, एस्सार ग्रुप के वाइस चेयरमैन
> अंशुमान रुइया, प्रमोटर, एस्सार समूह

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।