कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र उत्तर प्रदेश के रायबरेली में प्रस्तावित भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मेगा रैली में आज पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत कई बड़े नेता कांग्रेस और गांधी परिवार पर हमले करेंगे।

स्थानीय जीआईसी मैदान पर दोपहर 12़ : 30 बजे शुरू होने वाली जनसभा में भाजपा के दिग्गज रायबरेली और अमेठी के पिछड़ेपन के लिए कांग्रेस और गांधी परिवार को जिम्मेदार ठहराते हुये शब्दबाण छोड़गे। इस रैली की खासियत यह भी होगी कि कांग्रेस के विधान परिषद सदस्य दिनेश प्रताप सिंह और उनके परिवार के लोग भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर सकते हैं। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन कयास लगाये जा रहे हैं कि हरचंदपुर के कांग्रेस विधायक राकेश सिंह और उनके अनुज दिनेश भाजपा की सदस्यता हासिल कर सकते हैं।

इसके अलावा जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह के भी भाजपा में शामिल होने की संभावना जताई जा रही है। विधान पार्षद दिनेश सिंह ने अपने विधायक और जिला पंचायत अध्यक्ष भाईयों के साथ पिछली 10 अप्रैल को कांग्रेस से किनारा कर लिया था। दिनेश को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त रहने का आरोप लगाते हुये कांग्रेस ने कारण बताओ नोटिस जारी किया था।

दिनेश ने इस आरोप के साथ पार्टी छोड़ दी थी कि उन जैसे छोटे कार्यकर्ताओं को कांग्रेस में तरजीह नही दी जाती है और किसी भी काम में उनके योगदान को नकारा जाता है। रायबरेली में भाजपा के पास फिलहाल कोई बड़ा नाम नहीं है इस लिहाज से स्थानीय स्तर पर दिनेश सिंह जैसे बड़े नाम का इस्तेमाल कर भाजपा 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के गढ को भेदने की कोशिश कर सकती है।

इस बीच भाजपा के नवनिर्वाचित विधान पार्षद विजय बहादुर पाठक ने कहा कि रायबरेली और अमेठी की जनता अपने क्षेत्र की बदहाली के लिये गांधी परिवार से जवाब मांग रही है। कांग्रेस के जिम्मेदारों को बताना होगा कि दोनो क्षेत्र विकास की दौड में क्यों पीछे रह गये। उन्होने कहा कि भाजपा की मौजूदा केंद्र सरकार ने अपने कार्यकाल के चार वर्षो में अमेठी और रायबरेली के लिए कई अच्छी परियोजनाओ की शुरूआत की है, जबकि पिछले एक साल से राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार भी अमेठी और रायबरेली के पिछडेपन को दूर करने के लिये प्रयासरत है।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक करें।