3 अगस्त था संसदीय इतिहास का अनोखा दिन , 100% कामकाज


Parliament

नयी दिल्ली : संसदीय मामलों के मंत्री अनंत कुमार ने आज लोकसभा में कहा कि तीन अगस्त का दिन संसदीय इतिहास के लिए अनोखा दिन था जिस दिन लोकसभा में सौ फीसदी कामकाज निपटाया गया। अनंत कुमार ने लोकसभा में कहा कि तीन अगस्त को सदन की कार्यसूची में विचार तथा पारित करने के लिए तीन विधेयक सूचीबद्ध थे और तीनों को ही चर्चा करने के बाद पारित किया गया।

Source

उन्होंने प्रश्नकाल के बाद शून्यकाल की परंपरा को बनाए रखने की मांग कर रहे कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खडग़े से भारतीय पेट्रोलियम और ऊर्जा संस्थान विधेयक 2017 को पहले चर्चा कर पारित करने की अपील करते हुए कहा कि यह एक महत्वपूर्ण विधेयक है और इसे पारित करने के बाद शून्यकाल लिया जा सकता है।

इसी क्रम में उन्होंने कहा कि तीन अगस्त को लोकसभा ने सौ फीसदी कामकाज निपटाया। उन्होंने कहा, “यह संसदीय इतिहास का अनोखा दिन था जब कार्यसूची का सारा कामकाज निपटाया गया।” हालांकि उन्होंने खडग़े की मांग पर अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के इस निर्देश से सहमति जतायी कि सरकार भविष्य में इस प्रकार शून्यकाल को स्थगित कर कोई प्रस्ताव या विधेयक चर्चा के लिए लाने से बचेगी।

Source

इससे पूर्व खडग़े ने कहा कि तीन अगस्त को भी सदन में शून्यकाल नहीं हुआ था और आज भी शून्यकाल नहीं लिया जा रहा। उन्होंने कहा कि यह ठीक नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार संसदीय परम्परा को ध्वस्त कर रही है। अनंत कुमार ने कहा कि आज शून्यकाल न लें। किन्तु बाद में लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि विधेयक के बाद शून्यकाल के मुद्दों को लिया जाएगा।