नई दिल्ली: एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी शनिवार को अपने संसदीय क्षेत्र हैदराबाद की एक जनसभा में सत्ताधारी बीजेपी और आरएसएस को निशाने पर लिया। एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक हैदराबाद से सांसद ओवैसी ने कहा, ‘मुल्क में खौफ का माहौल पैदा किया जा रहा है। इस माहौल को पैदा करने में उन लोगों, उन ताकतों का पूरा रोल है, जिन्होंने महात्मा गांधी को गोली मारी, जिन्होंने हिन्दुस्तान की आजादी में हिस्सा नहीं लिया, बल्कि अंग्रेजों का साथ दिया।’

पिछले महीने असदुद्दीन ओवैसी ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के बयान का स्वागत करते हुए कहा था कि तीसरा मोर्चा बीजेपी का विकल्प हो सकता है। कांग्रेस देश में उभरकर सामने आएगी। ओवैसी ने कहा कि इस बयान का दूरगामी असर पड़ेगा। हैदराबाद के सांसद ने रविवार को संवाददाताओं से कहा कि तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के प्रमुख के बयान का राष्ट्रीय राजनीति पर दूरगामी असर पड़ेगा।

‘2019 में अहम रोल निभाएंगी क्षेत्रीय पार्टियां’
एमआईएम अध्यक्ष ने आशा जताई है कि केसीआर गैर बीजेपी और गैर कांग्रेस दलों को एक साथ लाने में एक अहम भूमिका निभाएंगे। ओवैसी ने माना कि केंद्र में अगली सरकार के गठन में क्षेत्रीय पार्टियां मुख्य भूमिका निभाएंगी। उन्होंने कहा कि देश क्षेत्रीय पार्टियों और भाजपा व कांग्रेस के लिए विकल्प पेश कर रही पार्टियों की ओर रुख कर रहा है।

ओवैसी ने केसीआर की जमकर तारीफ की
एमआईएम नेता ने कहा कि टीआरएस अध्यक्ष द्वारा दिया गया बयान प्रोत्साहक है, क्योंकि देश में इस समय बहुत खालीपन है। सांसद ने कहा, “उन्होंने सही कहा कि लोग भाजपा शासन से ऊब चुके हैं और कांग्रेस एक व्यवहार्य विकल्प नहीं बन रही है और न ही यह वैसी हो सकती है।”

ओवैसी ने केसीआर की सराहना करते हुए कहा कि देश को उनके जैसा नेता और उनकी जैसी सोच की जरूरत है। मुख्यमंत्री कल्बकुंतल चंद्रशेखर राव ‘केसीआर’ नाम से प्रसिद्ध हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि केसीआर ने काफी संघर्ष किया है और खुद को एक राजनेता और एक प्रभावशाली मुख्यमंत्री के तौर पर साबित किया है।

 

हमारी मुख्य खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें।