नोटबंदी के बाद देश का बैंकिंग प्रबन्धन ध्वस्त


पटना : बिहार सहित देश के कई राज्यों में एटीम में नो कैश के बोर्ड लगने पर बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रभारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने गहरी चिन्ता प्रगट की है। श्री कादरी ने कहा कि अक्षय तृतीया एवं शादी-विवाह का लगन शुरू हो गया है,

ऐसी स्थिति में मध्य-वर्ग एवं समाज के दबे-पिछड़े वर्ग के लोग अपनी इमानदारी से अर्जित की गई राशि नहीं निकाल पा रहे हैं। दूसरी तरफ नीरव मोदी, नेहुल चौकसी, विजय माल्या जैसे लोग देश के बैंकों से हजारों करोड़ का पैसा लेकर विदेश भाग गये हैं और उनपर कोई कड़ी कार्रवाई परिलक्षित नहीं हो पा रही है।

श्री कादरी ने कहा कि 8 नवम्बर 2016 को देश में नोटबंदी लाने के डेढ़ वर्ष बीत जाने के बाद अभी तक न तो कालाधन वापस आया, न ही आतंक की घटनाओं में कमी आयी। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद देश की बैंकिंग प्रबन्धन ध्वस्त हो गया है और अक्षय तृतीया तथा शादी,

व्याह के लगन में मध्य एवं निम्न मध्य-वर्ग के लोग अपनी इमानदारी से कमाई कर बैंकों में जमा राशि नहीं निकाल पा रहे हैं। श्री कादरी ने केन्द्रीय वित्त मंत्री से तुरत एटीम में पैसे भरवाने की मांग की है जिससे लोगों को शादी के लगन में राहत मिल सके।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।