बेल्जियम मदद करेगा उत्तर प्रदेश की


लखनऊ : नदियों की साजसफाई,कचरा प्रबंधन और स्मार्ट सिटी समेत तमाम परियोजनाओं में आधुनिक तकनीक मुहैया करा कर बेल्जियम देश की सबसे घनी आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने में मदद करेगा।बेल्जियम के राजदूत जॉन लूयक्स के नेतृत्व में एक प्रतिनिधमंडल ने आज यहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की और उत्तर प्रदेश में आर्थिक सहयोग बढ़ाने तथा विभिन्न क्षेत्रों एवं परियोजनाओं के लिए आधुनिक तकनीक उपलब्ध कराने पर चर्चा की।

आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि श्री योगी ने बेल्जियम के प्रतिनिधिमण्डल को ‘नमामि गंगे परियोजना’ के तहत गंगा की निर्मलता एवं अविरलता के प्रति राज्य सरकार की प्रतिबद्धता जताते हुए कहा कि इस बारे में सरकार सभी आवश्यक कदम उठा रही है। प्रयाग अद्र्धकुम्भ-2019 के आयोजन से पहले गंगा को स्वच्छ बनाने का प्रयास युद्धस्तर पर किया जा रहा है। उन्होंने गंगा को स्वच्छ बनाने में बेल्जियम से सहयोग की अपेक्षा करते हुए इस मामले में नई तकनीक उपलब्ध कराने का आग्रह भी किया।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के नगरी क्षेत्रों में ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन पर बल देते हुए कहा कि ठोस अपशिष्ट निस्तारण में नई तकनीक काफी सफल एवं उपयोगी हो सकती है। इसी प्रकार, पेयजल एवं सीवरेज की व्यवस्था के लिए भी नई तकनीक के उपयोग पर बल दिया गया। इस मामले में बेल्जियम के राजदूत ने उपलब्ध तकनीक की जानकारी देते हुए कहा कि इन मामलों में बेल्जियम उत्तर प्रदेश को पूरा सहयोग देने के लिए तैयार है।

बेल्जियम के राजदूत ने ‘स्मार्ट सिटी परियोजना’ में रुचि दिखाते हुए इस मामले में अपने देश की तरफ से हर सम्भव सहयोग प्रदान करने की बात कही। उन्होंने अलीगढ़, इलाहाबाद, गाजियाबाद सहित प्रदेश के अन्य बड़े शहरों में इस परियोजना के तहत काम करने की इच्छा जताई। मुख्यमंत्री ने बेल्जियम के राजदूत के प्रति आभार व्यक्त किया जबकि लूयक्स ने प्रदेश के आर्थिक विकास के लिए सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया।

– (वार्ता)