बाल श्रम नियोजकों पर होगी कार्रवाई


मोतिहारी : श्रम संसाधन विभाग द्वारा श्रम अधिकार दिवस के अवसर पर नगर भवन मे आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला का उदघाटन सहायक श्रम आयुक्त संजीव कुमार, श्रम अधीक्षक दिवाकर दुबे एवं प्रेमशंकर सिंह तथा प्रबंधक प्रयास विजय शर्मा द्वारा किया गया। बतौर मुख्य वक्ता संजीव कुमार ने घोषणा किया कि पूर्वी चंपारण जिला बाल श्रम मुक्त जिला बनेगा, इसके लिए धाबा दल बनाकर कार्य रुप दिया जायेगा।

बाल श्रम नियोजकों पर पचास हजार रुपया जुर्माना होगा।  श्रम अधीक्षक पूर्वी चंपारण ने कहा किआज सरकारी योजनाओं के प्रसार प्रचार की ज्यादा जरुरत है। पश्चिम चंपारण के श्रम अधीक्षक प्रेमशंकर सिंह ने कहा कि अब मृतक श्रमिकों को एक लाख रुपया देने का प्रावधान है।

अपंगों को 75 हजार मिलेगा। प्रयास के प्रबंधक ने लावारिस उपेक्षित एवं बीमार अठारह के बाल श्रमिक फरारी तथा खोये बच्चो की सूचना देने को कहा। कार्यशाला मे सभी पंचायत के काफी संख्या में श्रमिक शामिल हुए, उन्हें एक दिन की मजदूरी एवं भोजन दी गई। कार्यशाला में श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी उपस्थित थे। धन्यवाद ज्ञापन श्रम अधीक्षक ने किया।