बिहार तरक्की की नई गाथा लिखेगा : नीतीश


सुपौल/किशनगंज :बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रदेश में शराबबंदी को ऐतिहासिक पहल बताते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित राज्यों में भी इसे लागू करवाने का अनुरोध किया है। श्री कुमार ने आज सुपौल और किशनगंज में विभिन्न कार्यक्रमों को संबोधित करते हुए कहा,’शराबबंदी से समाज में व्यापक बदलाव आया है। शराबबंदी से एक तरफ जहां अपराध एवं सड़क दुर्घटनाओं में कमी आई है। वहीं, दूसरी ओर उपभोक्ता वस्तुओं जैसे दूध, फर्नीचर, मिठाई, कपड़ों की बिक्री में वृद्धि हुई है।

source

पहले जो लोग शराब में अपना पैसा गंवाते थे, शराबबंदी के बाद उनका पैसा बच रहा है और लोग इन पैसों का उपयोग अपने जीवन की बेहतरी के लिए कर रहे हैं।’ मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में शराबबंदी से पूर्व लोग शराब पीकर आते थे और झगड़ा-झंझट करते थे, शराबबंदी के बाद घर का माहौल बेहतर हो गया है। लेकिन, अभी भी सीमावर्ती क्षेत्रों के लोगों के जीवन में नेपाल और बंगाल, उत्तर प्रदेश और झारखंड से शराब लाकर कुछ लोग जहर घोलने का कार्य कर रहे है।

source

ऐसे लोगों पर कार्रवाई हो रही है। साथ ही कोताही बरतने वाले पुलिसकर्मियों को भी नहीं बख्शा जा रहा है। श्री कुमार ने कहा, ‘शराबबंदी से राज्य में बड़ा सामाजिक परिवर्तन आया है। अब हम शराबबंदी से नशामुक्ति की ओर बढ़ रहे हैं। हमें नशामुक्त समाज बनाना है। यदि समाज नशामुक्त होगा तो बिहार को आगे बढऩे से कोई रोक नहीं सकता। यदि शराबबंदी बिहार में सफल हो सकता है तो उत्तर प्रदेश, झारखंड, छत्तीसगढ़, राजस्थान और पश्चिम बंगाल में क्यों नहीं सफल हो सकता है।’