आरक्षण पर गलत बयान दे रहे हैंं भाजपा नेता : राजद


Rashtriya Janata Dal

राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश महासचिव सह अत्यंत पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के अध्यक्ष प्रो. रामबली चन्द्रवंशी, राज्य परिषद सदस्य भाई अरूण कुमार एवं बबलू मालाकार ने एक प्रेस बयान जारी कर नीतीश कुमार के द्वारा आउटसोर्सिंग में आरक्षण घोषणा किये जाने पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य सरकार ऐसा कहकर बिहार की जनता को गुमराह करने की काम कर रही है। क्योंकि राज्य सरकार के आरक्षण अधिनियम 1993 के अनुसार 45 दिनों से अधिक की नियुक्ति या नियोजन हेतु चाहे वह सरकारी हो या आउटसोर्सिंग या संविदा का हो उस पर आरक्षण के नियमों का सख्ती से पालन करने का प्रावधान निहित है जो कि तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद जी ने किये थे।

उन्हीं नियमों के तहत आज भी आउटसोर्सिंग नियमों का पालन हो रहा था परन्तु नीतीश ने लालू जी के दिये हुए आरक्षण को ही अलग से कैबीनेट में संकल्प पारित करके वाहवाही लूटने के फिराक में लगे हुए हैं तथा दलितों एवं पिछड़े वर्ग के लोगों को भी गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि नीतीश कुमार आरक्षण के इतने ज्यादे पक्षधर हैं और आरक्षित वर्ग के लोगों को फायदा पहुंचाना चाह रहे हैं तो उन्हें निजी क्षेत्रों में आरक्षण के लिए अध्यादेश लाना चाहिए तथा ठेकेदारी प्रथा में भी अलग से आरक्षण लाकर इन वर्गों के लोगों को कुछ भलाई कर सकते हैं। भाजपा के कुछ बड़े नेता बिना कुछ जाने समझे हुए अज्ञानतावश आउटसोर्सिंग में आरक्षण के मामले पर गलतबयानी कर रहे हैं और इसके खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं जो कि गलत है।