भाजपा का नीतीश से हाथ मिलाना जरूरी


पटना: बिहार के बेगूसराय से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद भोला ङ्क्षसह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में फिर से शामिल कराने की वकालत करते हुए कहा कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को इसके लिए अपने रुख में बदलाव लाना चाहिए। श्री ङ्क्षसह ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बिहार और पूर्वी भारत के विकास के लिए गंभीर हैं और उन्होंने इस संबंध में कई अवसरों पर अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कुमार से बिना हाथ मिलाये बिहार में विकास की गति को तेज करना मुश्किल है।

भाजपा सांसद ने कहा कि श्री कुमार के राजनीतिक जीवन में निखार लाने के लिए भाजपा ने पहले भी शहादत दिया है और बिहार तथा देश हित में यह अच्छा होगा कि पार्टी नेतृत्व उन्हें फिर से राजग में शामिल कराने के लिए अपने रुख में बदलाव लाये। उन्होंने कहा कि भाजपा को इसके लिए सतर्कता से कदम बढ़ाना होगा ताकि ऐसा प्रतीत न हो कि पार्टी श्री कुमार से हाथ मिलाने को बेताब है। श्री ङ्क्षसह ने कहा कि भाजपा ने एक तरह से इसके लिए कदम उठाना शुरू भी कर दिया है और इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ने पटना में सिखों के दशवें गुरु गुरुगोविद ङ्क्षसहजी के 350वें जन्म दिन के अवसर पर आयोजित प्रकाशोत्सव के समापन समारोह में शराबबंदी को बिहार में प्रभावी तरीके से लागू करने के लिए श्री कुमार की काफी प्रशंसा की थी।

उन्होंने कहा कि बिहार में भाजपा ने भी शराबबंदी के मामले में श्री कुमार को समर्थन दिया है। भाजपा सांसद ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव के लिए मुख्यमंत्री श्री कुमार राष्ट्रीय स्तर पर विपक्षी एकता के लिए धूरी बनते दिख रहे हैं और ऐसे में उन्हें राजग में फिर से शामिल कराने का प्रयास किया जाना पार्टी हित में भी अच्छा होगा। उन्होंने कहा कि श्री कुमार के राजग में शामिल होने से राष्ट्रीय स्तर पर पूरा विपक्ष धाराशायी हो जाएगा। श्री ङ्क्षसह ने कहा कि हाल के दिनों में श्री कुमार यथार्थ और आदर्श के बीच दुविधा में दिख रहे हैं। उन्होंने कहा कि कभी वह यथार्थ को पकड़ते है और आदर्श को छोड़ देते है। अपनी छवि के लिए सतर्क श्री कुमार आदर्श के लिए कभी-कभी यथार्थ को भी नजरंदाज कर देते हैं।