कांग्रेस खुद को कर रही समाप्त


पटना : कांग्रेस पार्टी को निशाने पर लेते हुए भाजपा प्रदेश प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि अपनी कार्यशैली में कोई बदलाव नहीं करने के कारण कांग्रेस खुद व खुद समाप्ति की तरफ अग्रसर है। भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में कांग्रेस राजतन्त्र के तहत काम कर रही है। जब देश आजाद हुआ थाए उस समय लोगों में देश की आजादी और स्वतन्त्रता सेनानियों के प्रति श्रद्धा थी जिसे भुना कर कांग्रेस ने 60 वर्षों तक देश पर राज किया और इसे राजतंत्र समझने की भूल कर बैठी।

अपने इसी अहं में कांग्रेस जनभावना के अनुरूप आज भी अपने को नहीं बदल पा रही है और जनता के हित के बजाए भ्रष्टाचारियों और खुद का स्वार्थ साधने में लगी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को यह पता होना चाहिए कि लोकतंत्र में आस्था रखने वाली देश की जनता न तो भ्रष्टाचार को पसंद करती है न राजतन्त्र को। अपने इसी रवैये के कारण जनता कांग्रेस का वही हश्र करेगी जो उसने कम्युनिस्टों का किया है। कम्युनिस्ट पार्टी देश में आज हाशिए पर खड़ी हैए जिसका सबसे प्रमुख कारण नौजवानों को आगे नहीं आने देना है।

कांग्रेस को घेरते हुए श्री रंजन ने आगे कहा कि कांग्रेस के विरोध में ही देश में क्षेत्रीय पार्टियां बनी, लेकिन खुद में सुधार नहीं करने के कारण देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस आज उन्ही क्षेत्रीय दलों की पिछलग्गू बनने पर विवश है। राजतान्त्रिक व्यवस्था पर चलते हुए कांग्रेस आज भी राहुल गांधी को अपना नेता मान रही है और अगर राहुल गांधी की कार्यशैली को देखें तो लगता है कि उनके कार्यकाल में ही कांग्रेस पार्टी का वजूद समाप्त हो जाएगा।

हिंदुस्तान में हर किसी को बराबर का अधिकार रहने का यह मतलब नही है कि नेता का बेटा ही नेता होगा, यह न केवल किसी पार्टी बल्कि देश के लिए भी घातक है। इसी राजतान्त्रिक कार्यशैली के कारण ही कांग्रेस के शासनकाल में भ्रष्टाचारियों का बोलबाला रहता है। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस के सिर्फ महज दस वर्षों के पिछले शासन को ही याद करें तो उस काल में 12.5 लाख करोड़ के घोटाले हुए थे जिसके कारण आज कांग्रेस भ्रष्टाचार की पर्यायवाची बन चुकी है। इन्ही वजहों से आने वाले वर्षों में कांग्रेस का खात्मा तय है।