लालू परिवार और माफियाओं के बीच सांठगांठ


पटना, (भाषा): बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद के परिवार और बालू माफियाओं के बीच सांठगांठ होने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि सुभाष प्रसाद यादव नामक एक बालू माफिया जो कि राजद प्रमुख का ‘दायां हाथ’ है, ने राबड़ी देवी से तीन फ्लैट खरीदे हैं। त्रकारों से बातचीत करते हुए सुशील ने अपने इस आरोप की पुष्टि के तौर पर पटना स्थित मिरचिया देवी कम्पलेक्स के तीन फ्लैट के सेलडीड पेश करते हुए आरोप लगाया कि इसे लालू प्रसाद की पत्नी राबड़ी देवी से गत जून महीने में एक ही दिन खरीदा गया है।

उन्होंने आरोप लगाया कि उक्त कम्पलेक्स में राबड़ी देवी के 18 फ्लैट हैं और अवैध तरीके से अॢजत इन फ्लैट को आयकर सहित अन्य जांच ऐजेंसियां जब्त न कर लें, इससे बचने के लिए उसे पटना के दानापुर के हेतनपुर गांव निवासी बालू माफिया सुभाष यादव जो कि लालू प्रसाद का ‘दायां हाथ’ है, को गत 13 जून को 1.72 करोड़ रुपये में बेच दिया गया। उन्होंने लालू प्रसाद की मदद से सुभाष यादव के अपनी तीन कंपनियों के लिए पटना, भोजपुर, सारण, वैशाली, जहानाबाद और अरवल में 237 करोड़ रुपये का बालू उत्खनन का लीज प्राप्त करने का आरोप लगाते हुए पूछा कि सुभाष ने आखिर क्यों एक ही दिन राबड़ी के उन फ्लैट को खरीदा।

उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश की पिछली महागठबंधन सरकार में लालू प्रसाद की पार्टी राजद के मंत्री मुनेश्वर चौधरी के पास खनन एवं भूतत्व विभाग था। राजद प्रमुख लालू प्रसाद के छोटे पुत्र तेजस्वी प्रसाद यादव के होटल के बदले भूखंड मामले में जनता की अदालत में स्पष्टीकरण नहीं देने पर नीतीश ने 20 महीने पुरानी महागठबंधन सरकार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था और उसके बाद उनकी पार्टी जदयू ने भाजपा के साथ मिलकर प्रदेश में राजग की नई सरकार बनायी जिसमें सुशील कुमार मोदी उपमुख्यमंत्री के पद पर आसीन किए गए।

सुशील लालू प्रसाद और उनके परिवार पर पिछले करीब दो महीने के दौरान ‘बेनामी संपत्ति’ को लेकर लगातार आरोप लगाते आ रहे हैं। उन्होंने लालू और उनके परिवार पर करीब एक हजार करोड़ रुपये की ‘बेनामी संपत्ति’ होने का दावा किया था। सुशील ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद पर अपना प्रहार जारी रखते हुए गत 01 अगस्त को कहा था कि बालू माफिया ने किसी प्रकार राजद को आॢथक मदद पहुंचायी और लालू प्रसाद के परिवार और उनकी संपत्ति में निवेश किया है तथा वह उससे संबंधित दस्तावेजी सबूत के साथ जल्द ही खुलासा करेंगे।

उन्होंने कहा कि इस बारे में वह मुख्यमंत्री को भी सूचित करेंगे और उनसे आग्रह करेंगे कि इस मामले की राज्य की जांच एजेंसी से जांच करायी जाए। भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील ने कहा कि लालू, राबड़ी और उनके छोटे पुत्र एवं पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव से इन फ्लैट की बिक्री को लेकर 34 दिनों के भीतर अपनी स्थिति स्पष्ट नहीं करते है तो वह ऐसी सांठगांठ के बारे में आगे भी खुलासा करते रहेंगे।

उन्होंने बालू माफिया सुभाष पर राजद का वित्तपोषण करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनके द्वारा आगामी 27 अगस्त को पटना में प्रस्तावित राजद की रैली में भी उनके द्वारा आॢथक मदद की जा रही है। बिहार में सथा में आने पर नीतीश नीत राजग सरकार द्वारा बालू माफिया के खिलाफ की गयी कार्रवाई में कई अवैध उत्खनन स्थलों का उद्भेदन किया गया तथा कई मशीनों और बालू ढुलाई में लगाए गए वाहनों को जब्त किया है।