भ्रष्टाचारी, नक्सलियों से ज्यादा खतरनाक


पटना : जन अधिकार पार्टी (जाप) के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने यहां मंगलवार को कहा कि नक्सलियों और आतंकवादियों से ज्यादा खतरनाक भ्रष्टाचारी हैं। नक्सली या आतंकी कुछ लोगों को नुकसान पहुंचाता है, लेकिन एक भ्रष्टाचारी एक साथ लाखों लोगों को नुकसान पहुंचाता है। उन्होंने बिहार के कई विधायकों की संपत्ति की जांच प्रवर्तन निदेशालय से करवाने की मांग भी की।

बाहुबली सांसद ने पटना में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि 16वीं बिहार विधानसभा में 156 विधायक करोड़पति हैं, जबकि 130 विधायकों के खिलाफ जघन्य अपराध के मामले दर्ज हैं। एडीआर की रिपोर्ट की कॉपी जारी करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा के 40, जद (यू) के 32, राजद के 28 और कांग्रेस के 13 विधायक करोड़पति हैं। उन्होंने कहा-15वीं विधानसभा के साथ 16वीं विधानसभा में जीते कई विधायकों की संपत्ति में 10 गुना तक वृद्धि हुई है।

इन विधायकों की संपत्ति की जांच प्रवर्तन निदेशालय से करवानी चाहिए, जिससे उनकी आय के स्रोत का पता चल सके।” पप्पू यादव ने भ्रष्टाचार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए आगे कहा कि नक्सली या आतंकी कुछ लोगों को नुकसान पहुंचाता है, लेकिन एक भ्रष्टाचारी एक साथ लाखों लोगों को नुकसान पहुंचाता है। एक भ्रष्टाचार के कारण लाखों के विकास की योजनाएं अधर में लटक जाती हैं। भ्रष्ट राजनेताओं के खिलाफ कठोर कानून बनना चाहिए और उसे कठोरता से लागू किया जाना चाहिए।

राजद में रह चुके जाप सांसद ने जेल में बंद पूर्व सांसद शहाबुद्दीन और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के बीच कथित बातचीत के ऑडियो पर कहा कि जेल में बंद किसी व्यक्त से बात करना अनुचित है। उन्होंने हालांकि सवालिया लहजे में कहा कि कौन नेता जेल में बंद अपराधियों से बात नहीं करता है! वर्ष 1997 में लालू यादव तो बेउर जेल से ही सरकार चला रहे थे। उन्होंने सभी पार्टियों के नेताओं से आग्रह किया वे अपराधी और भ्रष्टाचारी को किसी चुनाव में टिकट नहीं दें।