रक्षा सूत्र भी नहीं बचा सका भाइयों को


मुजफ्फरपुर, (वार्ता): बिहार में मुजफ्फरपुर जिले के साहेबगंज थाना क्षेत्र के खुर्शेदा गांव से रक्षाबंधन के दिन से लापता पांच बच्चों का शव बरामद कर लिया गया है। पुलिस सूत्रों ने यहां बताया कि रक्षाबंधन के दिन बहनों से राखी बंधा कर सभी बच्चे स्थानीय मेले में जाने की बात कह कर निकले थे लेकिन उसके बाद सोमवार देर रात तक वापस नहीं लौटे। परिजनों ने पहले तो बच्चों की खोजबीन की लेकिन नहीं मिलने पर उन्होंने इसकी सूचना स्थानीय थाना को दी। मामले की शिकायत मिलने के बाद पुलिस लगातार बच्चों की खोजबीन कर रही थी।

सूत्रों ने बताया कि स्थानीय महिला मवेशी का चारा लाने गांव के भतहंडी चौर गयी थी तभी उसकी नजर एक बच्चे के शव पर पड़ी। महिला ने तत्काल इसकी जानकारी गांव वालों की दी। इसके बाद ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने चौर में जमी पानी से लापता सभी पांच बच्चों का शव देर रात बरामद कर लिया। मृतक बच्चों में राजा कुमार, उदय, विक्की, अमित उर्फ मिसिर और करण शामिल हैं।

शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। परिजनों ने बच्चों की हत्या की आशंका जताई है। इसी बीच वरीय पुलिस अधिकारी का कहना है कि प्रथम दृष्टया ऐसा लग रहा है कि सभी बच्चों की मौत डूबने से हुई है लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही घटना के सही कारणों का पता चल सकेगा। इन बच्चों के लापता होने पर उनके परिजनों द्वारा उनके लापता होने की कोई सूचना स्थानीय थाना में नहीं दी गयी थी और वे अपने स्तर से उनकी तलाश में लगे हुए थे।

इन बच्चों के शवों की विभत्स स्थिति हुए परिजनों ने इनकी हत्या किए जाने की आशंका व्यक्त करते हुए स्थानीय लोगों के साथ मिलकर भतहंडी गांव के समीप राज्य उच्च पथ 74 को सुबह कई घंटे तक जाम किए रखा जो कि बाद में पुलिस एवं प्रशासन द्वारा समझाने पर समाप्त हुआ। जिलाधिकारी ने सभी मृतकों के परिजनों को आपदा प्रबंधन विभाग के प्रावधान के तहत 4-4 लाख रुपए अनुग्रह राशि के तौर पर प्रदान करने का निर्देश दिया है।