कागजों पर हो रहा है देश का विकास


पटना : जनतांत्रिक लोकहित पार्टी के राष्ट्रीय अध्याक्ष सतीश कुमार ने कहा कि देश में सिर्फ कागजों पर ही विकास हो रहा है। केंद्र और राज्ये की सरकार को देश के बहुसंख्यसक किसानों, कामगारों, युवाओं के लिए विकास की कोई चिंता नहीं है। श्री कुमार ने पटना के एग्जीशवीशन रोड स्थित पार्टी कार्यालय में आयोजित मिलन समारोह के दौरान कहा कि बिहार में महागठबंधन की लठबंधन सरकार एवं केंद्र की जुमलेबाज, नौटंकीबाज सरकार ने राज्य एवं राष्ट्र के किसानों कामगारों एवं नौजवानो को बदहाल फटेहाल बना दिया, आत्महत्या एवं बंधुआ मजदूरी को विवश कर दिया।

उन्होंने कहा कि दोनों ने न तो नौजवानों को रोजगार दिया न ही किसानो को लाभकारी मूल्य, न ही कामगारों को समुचित श्रम कानूनों का लाभ दिया। ऐसे में जनतांत्रिक लोकहित पार्टी 70 वर्षों की कांग्रेस, 27 वर्षो की समाजिक न्याय की पुरोधा एवं 10 वर्षो के भाजपा सरकार के विकल्प में किसान, कामगारों एवं नौजवानों की आवाज है। संघर्ष के बुनियाद पर व्यवस्था परिवर्तन के लक्ष्य के साथ सत्ता का लोकतान्त्रिक सिंहासन करेगी।

श्री कुमार ने कहा की बिहारी स्वाभिमान , कानून का राज , समावेशी विकास , शराब बंदी, दहेजबंदी ,बाल-विवाह बंदी के प्रचारक एवं प्रवचनकर्ता की सच्चाई अब जनता जान चुकी है , बिहार की आवाम समझ चुकी है कि विकास अब सिर्फ कागजों पर ही है। शराबबंदी के बावजूद अपराध बेतहाशा बढ़ रहे है।

वहीं प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार ने कहा कि बिहार में 12 वर्षो से कभी भाजपा तो कभी महागठबंधन के साथ गलबहिया कर सत्ता पाने वाले नेता जी को सिर्फ अपनी कुर्सी से मोह है न कि उनका कोई राजनैतिक सिद्धांत है , न उसूल है और न ही उन्हें अपने सामाजिक, राजनैतिक पुरखों की विरासत से आस्था है इसीलिए जलोपा के झंडेबदार साथियों पर परिवर्तन की लड़ाई का जिम्मा है। विश्वास है कि संघर्ष के बूते हमारी पार्टी युवा उद्दमी एवं युवा किसान का प्रदेश बनाने का लक्ष्य प्राप्त करेगी। समारोह को महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्षा डा. स्मिता शर्मा एवं वरीय उपाध्यक्ष संजय कुमार मंडल ने भी संबोधित किया।