किसान संगठनों ने किया प्रदर्शन


पटना : देश भर के 62 किसान संगठनों के अखिल भारतीय किसान संघर्ष समिति के राष्ट्रीय आह्वान पर आज पटना में जिलाधिकारी के समक्ष जोरदार प्रदर्शन किया गया और कृषि उत्पाद के लागत मूल्य के डेढ़ गुणा समर्थन मूल्य के साथ किसानों के उपर बैंक, सरकारी, महाजनी व अन्य कर्जों की माफी की मांग की गयी। पटना में गांधी मैदान के दक्षिणी छोर से प्रदर्शन आरंभ हुआ और जिलाधिकारी के कार्यालय तक पहुंचा।

प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन पर तत्काल कार्रवाई की मांग कर रहे थे। एडीएम ने प्रदर्शनकारियों के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात करके उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। उसके बाद कार्यक्रम समाप्ति की घोषणा हुई। आज के प्रदर्शन में मुख्य रूप से अखिल भारतीय किसान महासभा, बिहार राज्य किसान महासभा (सीपीआइ से संबद्ध), बिहार राज्य किसान महासभा (सीपीआइएम से संबद्ध), स्वामी सहजानंद सरस्वती विचार मंच, एसयूसीआईसी के किसान महासभा के साथ ही कई अन्य संगठन के लोग शामिल थे।

कार्यक्रम का नेतृत्व अखिल भारतीय किसान महासभा के राज्य सहसचिव का. उमेश सिंह, का. राजेन्द्र पटेल एवं कृपानारायण सिंह, बिहार राज्य किसान सभा के रामजीवन सिंह, सोनेलाल, वैद्यनाथ शर्मा, लक्ष्मण शर्मा आदि कर रहे थे। सैकड़ो किसान अखिल भारतीय किसान महासभा की ओर से मांगों की तख्तियां व बैनर लिए शामिल थे।

विरोध-प्रदर्शन के दौरान हुई सभा को संबोधित करते हुए आयोजन के संयोजक का. उमेश सिंह ने कहा कि आज देश व राज्यों में किसान विरोधी सरकारें कायम है, जो लगातार किसानों के साथ विश्वासघात कर रही है। किसान और कृषि विरोधी नीतियां पास कर किसानों को मौत के मुंह में धकेला जा रहा है। हम किसानों का इसका मुंहतोड़ जवाब देना होगा।