जदयू की कार्यकारिणी की बैठक 19 को


पटना : बिहार में भाजपा के सहयोग से सरकार का गठन भले ही हो चुका है, लेकिन जदयू 19 अगस्त को एनडीए में विधिवत शामिल होने के प्रस्ताव मुहर लगायेगा। उस दिन दो चरणों में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी और राष्ट्रीय परिषद की बैठक होगी। गरमी-गरमी से भरपूर होने वाली इस बैठक में बिहार में 360 डिग्री पर बदल गये राजनीतिक समीकरण पर विसतार से चर्चा होगी।

एनडीए के साथ जाने के पक्षधर नेताओं को फैसले का अपने अपने कारणों से विरोध कर रहे नेताओं को समझाने के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ेगी। राज्यसभा सदस्य शरद यादव की अगुआई में महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडू, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल, गुजरात और राजस्थान के स्थानीय नेता भाजपा केसाथ जाने के विरोध में हैं।

केरल से जदयू के राज्यसभा सदस्य एमपी वीरेन्द्र कुमार तो इस मामले मेूं शरद यादव से मुलाकात कर जदयू से अलग होने की घोषणा तक कर चुके हैं। महाराष्ट्र जदयू के अध्यक्ष व एमएलसी कपिल पाटिल भी असमंजस में हैं।  शरद यादव का तो यहां तक कहना है कि भाजपा के साथ गठबंधन की उन्हें पहले से कोई सूचना नहीं थी।

नीतीश कुमार ने उनसे इससंबंध में कोई चर्चा नहीं की। बैठक में 23 राज्यों के प्रतिनिधि भाग लेंगे। इसमें बदली हुई परिस्थिति मे जदयू की रणनीति पर भी विचार किया जायेगा। इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और शरद यादव के साथ प्रदेश जदयू अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी, राज्यसभा सांसद रामचन्द्र प्रसाद सिंह समेत कार्यकारिणी के सदस्य शामिल होंगे।