शरद यादव के भाजपा के साथ नहीं जाने का दावा किया लालू ने


पटना : राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने जदयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव के भाजपा के साथ नहीं जाने का आज दावा करते हुए उनसे अपील की कि सांप्रदायिक ताकतों को परास्त करने के लिए वे पूरे देश का भ्रमण करें तथा इसमें वे अपनी पूरी शक्ति लगा दें। लालू ने यहां आज कहा कि आज देश में जिस प्रकार का संप्रदायिक माहौल उत्पन्न किया गया है वैसी स्थिति में शरद जी जैसे धर्मनिरपेक्ष नेताओं की सख्त जरूरत है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में वे शरद जी से बातचीत करेंगे। उल्लेखनीय है कि होटल के बदले भूखंड मामले में सीबीआई की प्राथमिकी को लेकर उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के जनता के बीच स्पष्टीकरण पर अडे जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गत 26 जुलाई को महागठबंधन (जदयूराजदकांग्रेस) से नाता तोड लिया था।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के राजग खेमे में लौटने और भाजपा के साथ गठबंधन करने के बाद गत शुक्रवार को जिस दिन नीतीश ने बिहार विधानसभा में विश्वास मत हासिल किया उसी दिन कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद और माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने कि शरद के घर जाकर उनसे लंबी बात की थी। उल्लेखनीय है कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने इससे पूर्व शरद यादव को यूपीए में भी शामिल होने का भी न्योता दिया था, पर शरद द्वारा इस पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया जाहिर नहीं की गयी है।