बिहार में बैंकिंग सेवाओं में सुधार की जरूरत


पटना : राष्ट्रपति भवन के दरबार हॉल में नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति एम वैंकया नायडू के शपथ ग्रहण समारोह शामिल होने के बाद उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने केन्द्रीय वित राज्य मंत्री संतोष गंगवार से बिहार में बैंकिंग सेवाओं पर विस्तार से चर्चा की। उन्होंने केन्द्रीय मंत्री से आग्रह किया कि बिहार में बैंकिंग सेवाओं को कारगर और प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजनाओं को सफल बनाने के लिए अपने स्तर से बैंकों को निर्देश दें।

श्री मोदी ने कहा कि बिहार में प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना तथा स्टैंडअप इंडिया के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए और बेहत्तर करने की जरूरत हैं। भारत सरकार बैंकों की मॉनिटरिंग करें और यह सुनिश्चित करें कि आम लोगों को बैंकिंग सेवाएं निर्धारित समय सीमा में मिले। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में बैंकों के सुस्त रवैये के कारण प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत जून, 2017 तक मात्र 205 खाताधारियों को 18 करोड़ 45 लाख रुपये मिल पाये हैं जबकि इस योजना के तहत लाभार्थियों को 2.5 लाख तक अनुदान मिलता है।

इसी प्रकार मुद्रा योजना के अन्तर्गत इसी अवधि में 13,43, 428 उद्यमियों को 8,101 करोड़ रुपये दिए गए हैं। वहीं, स्टैंडअप इंडिया के तहत 1,726 लाभार्थियों का वित पोषण किया गया है। इसके तहत बैंक की प्रत्येक शाखा की ओर से 10 लाख से 1 करोड़ तक अनुसूचित जाति व जनजाति की किसी एक महिला को कर्ज दिया जाना है।

श्री मोदी ने केन्द्रीय वित राज्य मंत्री से कहा कि बिहार में प्रधानमंत्री बीमा सुरक्षा योजना व जनधन योजना के अन्तर्गत भी काफी काम करने की जरूरत है। वित राज्य मंत्री ने बिहार में प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजनाओं को प्रभावी बनाने में बैंकों के सहयोग का आश्वासन दिया।