नीतीश अपने मंत्रियों का बचाव कर रहे हैं : सुशील


पटना : बिहार भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) विधान मंडल दल के नेता एवं पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आज आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राष्ट्रीय जनता दल(राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के मंत्री पुत्र तेज प्रताप यादव एवं तेजस्वी यादव की बेनामी सम्पत्ति के खिलाफ कार्रवाई करने में न केवल बेचारे हो गये हैं बल्कि उनका बचाव भी कर रहे हैं।

श्री मोदी ने यहां जारी बयान में कहा कि जब कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी के निर्देश पर राजद अध्यक्ष श्री यादव के खिलाफ आय से अधिक सम्पत्ति मामले को केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने उच्च न्यायालय में चुनौती नहीं दी तो मुख्यमंत्री श्री कुमार उच्च न्यायालयऔर उच्चतम न्यायालय तक गए। वहीं मुख्यमंत्री श्री कुमार आज राजद अध्यक्ष के दोनों मंत्री पुत्र तेजप्रताप और तेजस्वी की बेनामी सम्पत्ति के खिलाफ कार्रवाई करने में न केवल बेचारे हो गए हैं बल्कि उनका बचाव भी कर रहे हैं।

भाजपा नेता ने कहा कि राजद अध्यक्ष श्री यादव की वर्ष 2006 में अघोषित 46 लाख की सम्पत्ति आज 10 वर्षों में बढ़ कर एक हजार करोड़ रुपये हो गई है, लेकिन राज्य सरकार उसे जब्त करने एवं भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रही है। आय से अधिक सम्पत्ति के मामले में राजद अध्यक्ष श्री यादव ने कहा था कि दहेज में मिली एक बाछी के बच्चों से 70 गायें हुईं जिसके दूध और दही को बेच कर उन्होंने सम्पत्ति अर्जित किया है।

श्री मोदी ने कहा कि केन्द्र की तत्कालीन कांग्रेस नीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार का लाभ उठा कर राजद अध्यक्ष श्री यादव ने आयकर अपीलीय प्राधिकार और सीबीआई की विशेष अदालत के विशेष लोक अभियोजक एवं न्यायाधीश तक को बदलवा मनोनुकूल लोगों को मनोनीत करा कर मामला खारिज करा लिया।

उन्होंने कहा कि क्या बिहार विशेष न्यायालय अधिनियम 2009 के तहत मुख्यमंत्री श्री कुमार अपने मंत्रिमंडल में शामिल श्री यादव के दोनों पुत्रों को मंत्री पद से बर्खास्त किये जाने के साथ -साथ उनकी सम्पत्ति जब्त करने की प्रक्रिया शुरू करायेंगे।

– (वार्ता)