नीतीश की समीक्षा यात्रा महज नौटंकी


Nitish Kumar

पटना : युवा राजद के प्रदेश अध्यक्ष मो. कारी सोहैब एवं युवा राजद के प्रदेश प्रवक्ता सह मीडिया प्रभारी अरूण कुमार यादव ने बक्सर के नंदन गांव में महादलित-गरीबों के घर में घुस कर पुलिसिया कहर की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि जब दलित-गरीबों ने लोकतांत्रिक तरीके से विकास की जमीनी हकीकत से नीतीश कुमार को रूबरू कराना चाहा तो सरकार व पुलिस प्रशासन का तानाशाही और गुंडागर्दी खुलकर सामने आ गयी है। नीतीश कुमार समीक्षा यात्रा की महज नौटंकी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा-जदयू की सरकार पूरी तरह से फ्लॉप साबित हुई है।

नीतीश कुमार को आक्रोश जनता से माफी मांगने के बदले घटना के बाद नीतीश कुमार इशारे पर नंदन गांव में दलित-गरीबों पर पुलिस ने आतंक का माहौल कायम कर रखा है अब तक निर्दोश चार महिलाओं समेत 16 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। घटना के बाद नंदन गांव में रविदास, पासवान व मुसहर समुदाय के दलित-गरीब रहते हैं जो पुलिस प्रशासन द्वारा कायरतापूर्ण तरीके से निरीह लोगों को बर्बरता से पीटने का काम किया है, जो कि दुर्भाग्यपूर्ण है।

भाजपा और जदयू नेताओं द्वारा नीतीश कुमार के काफिले पर पथराव के लिए लोगों को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव जी पर उसकाने के आरोप लगाए जाने पर द्वय युवा राजद नेताओं ने भाजपा और जदयू नेताओं को इस तरह के मनग्रंथ आरोप के लिए माफी मांगने की मांग करते हुए कहा कि इस घटना की हाईकोर्ट के न्यायाधीश के निगरानी में जांच कराए सरकार दूध का दूध और पानी का पानी हो जायेगा। कि घटना के लिए दोषी कौन है? प्रथम दृष्टि में तो साफ हो गया है कि काफिले पर पथराव करवाने के लिए लोग जदयू के स्थानीय विधायक और भाजपा ने ही उसकाया जिसके कारण आक्रोशित ग्रामीणों ने सीएम के काफिले पर पथराव किया।

हमारी मुख्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें।