पथराव के बाद पुलिस फायरिंग एक की मौत


police firing

दरभंगा : बिहार के दरभंगा जिले के बहेरी थाना अंतर्गत हाबीडीह गांव में शव दफनाये जाने का विरोध कर रहे लोगों की पुलिस के साथ हुई झड़प के दौरान पथराव और गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गयी जबकि तीन अन्य लोग जख्मी हो गए। बिहार सरकार ने वर्ष 1956 में तीन लोगों को एक भूखंड का पर्चा आवंटित किया था जिस पर जिला प्रशासन द्वारा मुस्लिम समुदाय के एक व्यक्ति के शव को दफनाने की अनुमति दी गयी थी पर बहुसंख्यक समुदाय के विरोध के कारण बीती रात्रि से उक्त शव पड़ा हुआ था पर जिला प्रशासन के संरक्षण में आज जब उक्त शव को दफनाया गया तो स्थानीय लोग भड़क गए और उन्होंने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया।

जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह ने बताया कि जवाबी कार्रवाई के तौर पर पुलिस द्वारा की गयी गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत और तीन अन्य व्यक्ति घायल हो गए। उन्होंने बताया कि अनुमंडल अधिकारी (सदर) गजेंद्र प्रसाद सिंह के अंगरक्षक मोहम्मद आफताब जिन्हें निलंबित कर दिया गया है, के कारबाईन से संभवत: चलायी गयी गोली से विजय राम (23) नामक एक व्यक्ति की मृत्यु हो गयी। जहां यह घटना घटी उक्त स्थान पर एक कब्रिस्तान है तथा उसके बगल में एक शमशान भी है। शमशान और कब्रिस्तान के निकट उक्त पांच कठ्ठे के भूखंड का पर्चा फुदी सदा, रामकिशुन सदा और गरीब पासवान नामक तीन लोगों को राज्य सरकार ने 1956 में आवंटित किया था जिसपर एक मुस्लिम का शव दफनाए जाने से यह हिंसा भड़की। दरभंगा प्रमंडल के आयुक्त आर. के. खंडेलवाल ने बताया कि इस मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

जिलाधिकारी ने बताया कि मृतक के आश्रित को अनुग्रह राशि के तौर पर चार लाख रुपये दिए जाएंगे तथा इस राशि के साथ मृतक के परिवार को कुल 11 लाख रुपये मिलेंगे तथा एससी एसटी अधिनियम के तहत हर महीने 11000 रुपये पेंशन के तौर पर दिया जाएगा। जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ए. के. सत्यवीर स्थिति को सामान्य बनाने के लिए घटनास्थल पर कैंप किए हुए हैं। इस बीच दरभंगा पुलिस अधीक्षक ए. के. सत्यवीर ने बताया कि स्थानीय लोगों द्वारा किए गए पथराव के दौरान अनुमंडल अधिकारी सदर के अंगरक्षक और एक दरोगा को चोट आयी जिसके बाद अंगरक्षक ने बिना उच्च अधिकारी के अनुमति के गोलीबारी कर दी और उसकी कारबाईन से चली गयी जिसके कारण हुई अनियंत्रित गोलीबारी में कारबाईन में लोडेड पूरी मैगजीन खाली हो गयी। उन्होंने बताया कि इस मामले में अंगरक्षक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है।

– भाषा