महागठबंधन में सियासी खींचतान तेज


पटना : केन्द्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) की छापेमारी के बाद बिहार में सत्तारूढ़ महागठबंधन के बड़े घटक राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और जनता दल यूनाइटेड (जदयू) में उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के इस्तीफे को लेकर सियासी खींचतान जारी है। महागठबंधन के प्रमुख घटक जदयू के मुख्य प्रवक्ता एवं विधान परिषद के सदस्य संजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अब तक जितने भी दागी मंत्री रहे हैं, उनसे इस्तीफा लिया है। इसके कई उदाहरण भी हैं। उन्होंने उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव का नाम लिये बगैर कहा कि यदि किसी को इशारा समझ में नहीं आ रहा है तो वह क्या कर सकते हैं। जदयू के मुख्य प्रवक्ता ने कहा कि चांद में दाग तो हो सकता है लेकिन मुख्यमंत्री श्री कुमार में नहीं।

उन्होंने अपने विशेष अंदाज में कहा, ‘इशारों को अगर समझो, राज को राज रहने दो।’ उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में पार्टी की जीरो टॉलरेंस की नीति रही है। जदयू के ही प्रदेश प्रवक्ता एवं विधान परिषद के सदस्य नीरज कुमार ने कहा कि सीबीआई के आरोपों पर राजद बिन्दुवार जवाब दे। मुख्य विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का राजद पर आरोप लगाना जहां राजनीतिक पक्ष है वहीं राजद को अपने नेताओं के ऊपर लगे आरोपों पर सफाई देना होगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कुमार ने कभी भी अपनी छवि से समझौता नहीं किया है।

वहीं, दूसरी ओर राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने जदयू को नसीहत देते हुए कहा कि वह भाजपा की भाषा न बोले बल्कि एक सहयोगी दल का धर्म निभाये। मंत्रिमंडल की बैठक में एक साथ रहने के बावजूद बातचीत नहीं होना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि महागठबंधन के नेताओं को आपस में बैठकर बातचीत करनी चाहिए। श्री सिंह ने कहा कि बातचीत ही लोकतंत्र की खूबसूरती है। भाजपा झूठे मामले को तूल देकर इस्तीफा मांग रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोग चाहते हैं कि महागठबंधन मजबूती के साथ बना रहे। महागबंधन को टूटने से बचाना जरूरी है। राजद के ही वरिष्ठ नेता एवं विधायक भाई विरेन्द्र ने कहा कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव सभी आरोपों का बिन्दुवार जवाब दे चुके हैं।

राजद भी अपनी छवि के प्रति सचेत रहती है। उन्होंने कहा कि राजद अपनी छवि की बदौलत ही 80 सीटों पर जीत दर्ज कर विधानसभा में सबसे बड़े दल के रूप में उभर कर आयी है। राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने कहा कि भाजपा राजद अध्यक्ष श्री यादव और उनके परिवार के खिलाफ साजिश रच रही है। यह बात मुख्यमंत्री श्री कुमार को भी मालूम है। उन्होंने कहा कि उप मुख्यमंत्री श्री यादव को लेकर समझौता का सवाल नहीं है बल्कि सही मायने में मुद्दा बेबुनियाद आरोप लगाये जाने का है।

श्री झा ने आरोप लगाया कि केन्द्र की भाजपा सरकार सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का गलत इस्तेमाल कर रही है। उप मुख्यमंत्री श्री यादव का इस्तीफा और बर्खास्तगी एक काल्पनिक सवाल है। उल्लेखनीय है कि सीबीआई की ओर से उप मुख्यमंत्री श्री यादव पर प्राथमिकी दर्ज होने के बाद से मुख्य विपक्षी भाजपा लगातार उनके इस्तीफे की मांग कर रही है। वहीं, सत्तारूढ़ महागठबंधन के बड़े घटक राजद विधानमंडल दल की बैठक कर उप मुख्यमंत्री के किसी भी हालत में इस्तीफा नहीं देने का निर्णय सुना चुका है। इस बीच प्रमुख घटक जनता दल यूनाइटेड कल विधानमंडल दल, जिलाध्यक्षों तथा विभिन्न प्रकोष्ठों के अध्यक्षों की बैठक कर श्री यादव से जनता के बीच जाकर उनपर लगे आरोपों का तथ्यपरक जवाब देने की मांग कर चुका है।