गौ-भक्ति पर राजद भाजपा आमने-सामने


पटना-हाजीपुर : राजद प्रमुख लालू प्रसाद के अपने पार्टी के कार्यकर्ताओं से भाजपा के गाय के प्रति प्रेम की जांच के लिए भाजपा नेताओं के घरों के सामने दूध नहीं दे सकने वाली बूढ़ी गायों को बांधने के सलाह के बाद गत 6 मई को बिहार के वैशाली जिला की एक अदालत में भाजपा के एक स्थानीय नेता के एक परिवाद पत्र दायर किये जाने के साथ भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने उन पर पलटवार करते हुए कहा कि लालू और उनके कार्यकर्ता जब स्वयं को सबसे बड़ा गौ-सेवक होने का दावा करते हैं तो वर्षों गाय से दूध प्राप्त करने के बाद उसे हमारे दरवाजे क्यों छोडऩा चाहते हैं। गत 4 मई को राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से कहा था कि भाजपा के लोग बूढ़ी और दूध नहीं दे पाने वाली गायों की सही मायने में देखभाल करते हैं या नहीं यह देखने के लिए उनके घरों के बाहर ऐसे मवेशियों को बांधे।

राजद प्रमुख लालू प्रसाद की इस सलाह के बाद गत छह मई को वैशाली जिला के भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के उपाध्यक्ष चंदेश्वर कुमार भारती ने अपने वकील लक्ष्मण कुमार सिन्हा किसलय के माध्यम मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में लालू और उनकी पार्टी राजद के चार अन्य कार्यकर्ताओं के खिलाफ भादंवि की धारा 323, 341, 379 और 504 के तहत एक परिवाद पत्र दायर किया गया था। वैशाली जिले के गुरौल थाना अंतर्गत विशनपुर अडरा गांव निवासी चंदेश्वर कुमार भारती के वकील किसलय ने आरोप लगाया था कि राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद द्वारा गत 4 मई को नालंदा जिला के राजगीर में किए गये आह्वान पर गत 5 मई को जब राजद कार्यकर्ता उनके मुवक्किल के घर के दरवाजे पर दो बूढ़ी गाय बांधने आये तो उन्होंने इसका विरोध किया। विशनपुर अडरा  गांव लालू के बडे पुत्र और मंत्री तेजप्रताप यादव के विधानसभा क्षेत्र महुआ में पड़ता है।

भारती ने आरोप लगाया था कि उनके मुवक्किल द्वारा विरोध किए जाने पर राजद कार्यकर्ताओं ने उनके साथ मारपीट की तथा उनसे दो हजार रुपये भी छीन लिए। भारती ने यह भी आरोप लगाया था कि राजद कार्यकर्ताओं ने उन्हें उक्त बूढ़ी गायों को खिलाने, अपने दरवाजे पर रखने तथा उनकी सेवा करने के लिए धमकाया। प्रभारी मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी मोहम्मद एफ बारी ने भारती के इस परिवाद पत्र के सुनवाई की अगली तारीख आगामी 19 मई निर्धारित करते हुए इसे अपर मुख्य न्यायधीश (चतुर्थ) को हस्तानांतरित कर दिया है। भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने लालू पर पलटवार करते हुए कहा कि लालू और उनके कार्यकर्ता जब स्वयं को सबसे बड़ा गौ सेवक होने का दावा करते हैं, तो वर्षों गाय से दूध प्राप्त करने के बाद उसे हमारे दरवाजे क्यों छोडऩा चाहते हैं। वहीं, राजद प्रवक्ता प्रगति मेहता ने कहा कि लालू प्रसाद ने केवल गोरक्षा की बात करने वाले भाजपा नेता सही मायने में गाय से प्रेम करते हैं या नहीं की जांच के लिए कहा था पर वैशाली के भाजपा नेता इसको लेकर बेवजह विवाद पैदा करने की कोशिश में लगे हैं।

– भाषा