आज से शरद का तीन दिवसीय दौरा शुरू, JDU से किए जा सकते हैं बाहर


बिहार राजनीति में तनातनी जारी है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जेडीयू दिग्गज शरद यादव के बीच सबंध काफी बिगड़ गए है। सूत्रों के अनुसार, शरद यादव को पार्टी से निलंबित किया जा सकता है। साथ ही उनपर अनुशासनात्मक कार्रवाई हो सकती है। दरअसल शरद यादव नीतीश कुमार की तरफ से बिहार में आरजेडी का साथ छोड़ने और बीजेपी के साथ नाता जोड़ने के खिलाफ रहे हैं। इसी के चलते पार्टी अब शरद पर कार्रवाई करने का विचार कर रही है। बता दें कि शरद यादव जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे हैं।

 बिहार में शुरू करेंगे तीन दिवसीय यात्रा.. 

वहीं, शरद यादव आज से बिहार का तीन दिन का दौरा शुरू कर रहे हैं। शरद यादव का कहना है कि उनके इस दौरे का मकसद लोगों से संवाद करना है, क्योंकि नीतीश कुमार ने महागठबंधन तोड़कर जनता के विश्वास को चोट पहुंचाई है। साथ ही उन्होंने बताया कि उन्होंने समान विचारों वाले नेताओं की 17 अगस्त को दिल्ली में बैठक बुलाई है।

तीन दिन की इस यात्रा के दौरान शरद सड़क के रास्ते बिहार के कई जिलों का दौरा करेंगे। गुरुवार को वह पटना, सोनपुर और मुजफ्फरपुर की यात्रा करेंगे। वहीं, 11 अगस्त को शरद मुजफ्फरपुर, दरभंगा और मधुबनी जाएंगे। जबकि यात्रा के तीसरे व अंतिम दिन यानि 12 अगस्त को वो मधुबनी, सुपौल, सहरसा और मधेपुरा की यात्रा करेंगे।

 लालू का नीतीश पर हमला.. 

वहीं, जदयू प्रमुख लालू यादव ने भी बुधवार को अपने बयान में कहा कि ये शरद यादव की निजी यात्रा है। पार्टी से इसका कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया है कि नीतीश कुमार ने शरद यादव पर हमला करवाने की साज़िश रची है और ये हमला शरद यादव के पटना पहुंचते ही हो सकता है। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि उनकी पार्टी का शरद यादव की जेडीयू से गठबंधन जारी रहेगा।