नीतीश से मिले तेजस्वी, टल गया इस्तीफा


बिहार में तेजस्वी के इस्तीफे को लेकर गठबंधन में जो दरारे आ रही थी अब उसका समाधान हो गया है। जी हां, मंगलवार शाम को कैबिनेट मीटिंग हुई थी, जिसमे  डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और उनके भाई तेज प्रताप यादव कैबिनेट की मीटिंग में शामिल हुए। इसके बाद तेजस्वी यादव और नीतीश कुमार की करीब 45 मिनट तक मीटिंग हुई।

सूत्रों के मुताबिक मीटिंग में तेजस्वी ने अपने ऊपर लगे आरोपों पर नीतीश कुमार के सामने सफाई पेश की। तेजस्वी ने खुद को बेकसूर बताया। तेजस्वी ने नीतीश कुमार को बताया जब उन पर आरोप लगे थे तब वो सरकारी पद पर नहीं थे। ऐसे में प्रिवेन्शन ऑफ करप्पशन एक्ट में वो कैसे दोषी हैं। तेजस्वी ने ये भी बताया कि वो सीबीआई केस के खिलाफ कोर्ट जाएंगे और अग्रिम जमानत की अपील करेंगे।

तेजस्वी ने कहा अगर उन्हें जमानत नहीं मिली, तब वो दोषी हैं। वहीं अगर जमानत मिल गई या कोर्ट ने केस खत्म कर दिया तो फिर इस्तीफे का क्या मतलब होगा। बताया जा रहा है कि तेजस्वी यादव की इन दलीलों के बाद उनका इस्तीफा फिलहाल टल गया है। अब कोर्ट के फैसले के आधार पर तेजस्वी के खिलाफ कोई कदम उठाया जाएगा।

 सुशील का तेजस्वी पर नया आरोप

बता दें कि जहां कल तक तेजस्वी के इस्तीफे को लेकर बिहार में महागठबंधन में घमासान मचा था, उसी बीच सुशील कुमार मोदी ने तेजस्वी यादव पर एक नया आरोप लगाया था। भाजपा नेता सुशील मोदी ने कहा, “तेजस्वी की 26 वर्ष में 26 सम्पत्ति है, जिसमे से 13 बिना दाढ़ी मूंछ वाले समय की है और 13 दाढ़ी मूंछ वाले समय की है।”