नोटबंदी से बड़े घरानों का खजाना भरा


Lalu Prasad Yadav

आज राजद कार्यालय में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए दसवीं बार नामांकन निर्वाचन अधिकारी के सामने दाखिल किया। उसके बाद लालू प्रसाद पत्रकारों से वार्तालाप करते हुए कहा कि देश में समान विचारधारा वाले इकट्ठा कर केन्द्र में नरेन्द्र मोदी को कान पकड़ कर सत्ता से नीचे उतारना है। भाजपा वाले देश का दुश्मन है। उन्होंने कहा कि राजद बुनियादी पार्टी है एवं धर्मनिरपेक्ष है। यह कठिन घड़ी है जहां लोगों को मिल-जुलकर रहना होगा। लालू प्रसाद ने कहा कि नोटबंदी करके लोगों को सिर्फ ठगने का काम किया। उन्होंने पूंजीपति वाले को लाभ पहुंचाया। यह नोटबंदी से 23 बड़े घराने का खजाना भरा।

आरएसएस और अमित शाह के कहने पर इस तरह का कारनामा किया। जहां नोटबंदी व जीएसटी लागू होने के बाद व्यापारी वर्ग तंगहाल हैं भारत जैसे ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी जीएसटी किसी उपयोग का नहीं है। हमारी पार्टी नोटबंदी के विरोध में जिला में धरना प्रदर्शन किया और आगे भी इस मुद्दे पर संघर्ष जारी रहेगा। एक प्रश्न के उतर में उन्होंने कहा कि देश में रामराज नहीं बनने वाला है। भाजपा के बरगलाने से कुछ नहीं होने वाला है। फिर रामराज के स्थापना के लिए 2022 तक अपना बुकिंग करना चाहता है वह कन्फॉर्म नहीं हो सकेगा। देश की जनता जिन्होंने वोट दिया और जो नहीं दिया है वह भी नरेन्द्र्र मोदी की सरकार नहीं देखना चाहते हैं।

किसानों के मामले में श्री प्रसाद ने कहा कि मोदी जी के सरकार आने के बाद देश के किसानों के साथ बिहार के किसानों का बदहाली हाल है। यह कृषि रोड मैप नहीं है फ्रॉड रोड मैप है। इस अवसर पर पूर्व वित्त मंत्री अब्दुलबारी सिद्दीकी, प्रदेश अध्यक्ष रामचन्द्र पूर्वे, पार्टी के वरीय नेता शिवानंद तिवारी, पार्टी के वरीय नेता रघुवंश प्रसाद सिंह, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव, कांति सिंह, जगतानंद सिंह, विधायक पूनम कुमारी, पूर्व मंत्री महेश्वर हजारी,पटना के जिलाध्यक्ष देवमुनी सिंह यादव, झारखंड के पूर्व मंत्री पूर्णिमा यादव, उतर प्रदेश प्रदेश अध्यक्ष अशोक सिंह, प्रेमलता चौधरी, डा. इन्द्रदेव, डा. विजय कुमार वैद्य, विधायक स्वीटी हेम्ब्रम, प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन उपस्थित थे।