कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि भाजपा और आरएसएस सबरीमाला मंदिर को ‘अपवित्र’ न करे। उन्होंने हाल में मंदिर में हुई हिंसा को ‘बेहद अशोभनीय’ बताया। तिरुवनंतपुरम के सांसद ने राज्य सरकार पर भी उच्चतम न्यायालय के फैसले को लागू करने से पहले इससे जुड़े सभी पक्षों के साथ सलाह-मशविरा नहीं करके “जल्दबाजी” करने का आरोप लगाया।

उच्चतम न्यायालय ने भगवान अयप्पा के मंदिर में सभी उम्र की महिलाओं के प्रवेश को मंजूरी दी थी। शशि थरूर ने कहा कि सबरीमाला मंदिर में भाजपा का हिंसात्मक और धमकी भरा रवैया बेहद ‘अशोभनीय’ था।

उन्होंने कहा कि एक पवित्र स्थान को राजनीतिक युद्ध भूमि बनाकर राज्य के भाजपा प्रमुख ने खुलेआम यह दिखा दिया कि यह उनकी पार्टी के लिए अतिसुनहरा मौका है। शशि थरूर ने कहा कि श्रद्धालुओं की मंशाओं का सम्मान करते हुए कानून व्यवस्था कायम रखी जानी चाहिए। उन्होंने कहा, “मैं आरएसएस और भाजपा से अपील करता हूं कि कृपया वह मंदिर को अपवित्र न करें।”

संघ परिवार ने सबरीमाला पर जमाया कब्जा, पुलिस बनी रही मूकदर्शक : कांग्रेस