राजस्थान के अलवर से बीजेपी विधायक ज्ञान देव आहूजा ने अजीबोगरीब बयान देते हुए दावा किया है कि भगवान हनुमान दुनिया के पहले आदिवासी थे। आहूजा ने कहा कि हनुमान आदिवासियों के पहले संत भी थे। जब भगवान राम दक्षिण की ओर जा रहे थे, तब हनुमान ने आदिवासियों की सेना बनाई थी, जिसे भगवान राम प्रशिक्षित किया था। अलवर के रामगढ़ विधायक आहूजा ने यह बात हनुमान की तस्‍वीर को भीम राव अंबेडकर की प्रतिमा के नीचे लगे देखने के बाद कही।

आहूजा ने 2 अप्रैल को हुए दलित संगठनों के विरोध प्रदर्शन का एक वीडियो देखने के बाद कहा, ‘हनुमान आदिवासियों के पहले भगवान हैं। मुझे नहीं पता उनका अपमान क्‍यों किया गया। यह दुर्भाग्‍यपूर्ण है।’

25 मई को पार्टी दफ्तर में पत्रकारों के साथ बातचीत में उन्होंने कहा कि बीजेपी एमपी किरोड़ीलाल मीणा से बात की है, और उन्हें कहा है, “आपको शर्म आनी चाहिए, आप खुद को आदिवासी कहते हैं फिर भी हनुमान जी का विरोध करते हैं।” उन्होंने कहा कि वह भगवान के बीच पहले आदिवासी हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें समझ में नहीं आता है कि हनुमान जी का अपमान क्यों किया गया है, ये दुर्भाग्यपूर्ण है।

आपको बता दे की इससे पहले भी फरवरी 2016 में उन्होंने दावा किया था कि जेएनयू कैंपस में हर दिन 3 हजार कॉन्डम और 2 हजार शराब की बोतलें पाई जाती हैं। वहीं पिछले साल दिसंबर में उन्होंने कहा कि जो लोग गोहत्या और गोतस्करी में शामिल होते हैं उन्हें भी इसी तरह मार देना चाहिए। फरवरी 2016 में उन्होंने दावा किया था कि जेएनयू कैंपस में हर दिन 3 हजार कॉन्डम और 2 हजार शराब की बोतलें पाई जाती हैं। वहीं पिछले साल दिसंबर में उन्होंने कहा कि जो लोग गोहत्या और गोतस्करी में शामिल होते हैं उन्हें भी इसी तरह मार देना चाहिए।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।