अहमदाबाद : गुजरात में भारतीय जनता पार्टी ने आज कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल के उस दावे को खारिज कर दिया जिसमें उन्होंने कहा था कि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी पार्टी के कुछ असंतुष्ट नेताओं को संतुष्ट करने के लिये उन्हें संसदीय सचिव नियुक्त कर सकते हैं । भारतीय जनता पार्टी की गुजरात इकाई के अध्यक्ष जीतू वाघानी ने कहा कि ऐसी नियुक्तियों के लिए पार्टी और राज्य सरकार कानूनी और संवैधानिक प्रावधानों का पालन करेगी । कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने एक दिन पहले प्रदेश के राज्यपाल ओ पी कोहली को लिखे अपने पत्र में कहा था कि भाजपा के कुछ नाराज विधायकों को तुष्ट करने के लिए मुख्यमंत्री विजय रूपाणी संसदीय सचिव के पद पर नियुक्त कर सकते हैं । इसके बाद वाघानी का यह बयान आया है ।

गोहिल ने राज्यपाल से यह भी अपील की थी कि ‘‘ऐसी नियुक्तियों को वह मंजूरी नहीं दें क्योंकि यह अदालत की अवमानना के बराबर होगा।’’ गोहिल के आरोपों को बकवास करार देते हुए वाघानी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी और राज्य सरकार को इस मुद्दे पर किसी के सलाह की जरूरत नहीं है । उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘कांग्रेस नेता ने जो हमारे खिलाफ आरोप लगाए हैं उसे मैं खारिज करता हूं । इससे उनकी हताशा झलकती है । कुछ नेताओं में श्रेष्ठता की भावना आ जाती है क्योंकि वह समझने लगते हैं कि एकमात्र वही ऐसे व्यक्ति हैं जिन्हें सबकुछ पता है। यह प्रचार पाने का एक तरीका है ।’’ राज्यपाल को इस बारे में लिखने की आवश्यकता पर सवाल उठाते हुए वाघानी ने कहा कि कोई भी निर्णय करने में भाजपा हमेशा कानूनी और संवैधानिक प्रावधानों के बारे में विचार करती है ।

हमारी मुख्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें।