बजट ने गरीबों की आकांक्षाओं को नए पंख दिए : अमित शाह 


amit shah

नयी दिल्ली : भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज कहा कि आम बजट ने गरीबों की आकांक्षाओं को नए पंख दिए हैं। उन्होंने किसानों, आधारभूत ढांचे, ग्रामीण क्षेत्र और लघु तथा मध्यम उद्यमों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से बजट में किए गए उपायों का जिक्र किया। वित्त मंत्री अरूण जेटली जब लोकसभा में अपना पांचवा बजट पेश करते हुए घोषणाएं कर रहे थे तब शाह ने उनके महत्व को, खासकर गरीब और कमजोर तबकों के लिए, रेखांकित करते हुए कई ट्वीट किए।

आगामी लोकसभा चुनाव 2019 से पहले भाजपा नीत राजग का यह अंतिम पूर्ण बजट है। सत्तारूढ़ गठबंधन को उम्मीद है कि ग्रामीण क्षेत्र पर जो जोर दिया गया है वह चुनावी माहौल में जनता के साथ उसके जुड़ाव में मददगार साबित होगा। शाह ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र और कृषि के लिए ‘‘रिकॉर्ड आवंटन’’ से अभूतपूर्व ग्रामीण विकास होगा और कृषि को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने जोर देकर कहा कि ग्रामीण विकास और कृषि पर निरंतर ध्यान सरकार की विशेषता है। उन्होंने कृषि क्षेत्र पर खास ध्यान देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जेटली की प्रशंसा की।

शाह ने कहा, ‘‘इस बजट ने गरीबों, किसानों और मध्यम वर्ग की आकांक्षाओं को नए पंख दिए हैं। ‘न्यू इंडिया बजट’ वाकई में समाज के सभी वर्गों को सशक्त बनाएगा ताकि वह समृद्धि हासिल कर सकें। ’’ उन्होंने कहा कि आम आदमी के जीवन को और सुगम बनाने का ‘‘बहुत अधिक दबाव’’ है और ऐसा हो रहा है, वहन क्षमता तथा पहुंच बेहतर हो रही है।

शाह ने कहा कि इससे आम आदमी की आकांक्षाओं को प्रोत्साहन मिलेगा। उन्होंने आयुष्मान भारत को एक अनोखी पहल बताया जो स्वास्थ्य बीमा और सेहत सुनिश्चित करने से जुड़ी है। उन्होंने कहा कि भारत की करीब 40 फीसदी आबादी यानी 10 करोड़ परिवारों को पांच लाख प्रति परिवार का स्वास्थ्य बीमा विश्व में अपनी तरह की पहली योजना है। उन्होंने चार करोड़ परिवारों को बिजली कनेक्शन मुहैया करवाने वाली सौभाग्य योजना का भी जिक्र किया।

मोदी ने कहा कि जनजाति खंडों में प्रस्तावित एकलव्य स्कूल आदिवासी समुदाय के उत्थान के प्रति सरकार के संकल्प को दिखाता है।  उन्होंने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना को ऐतिहासिक फैसला बताया। मुद्रा योजना के तहत तीन लाख करोड़ रूपये के आवंटन के लिए सरकार के प्रति आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि इससे रोजगार सृजन को गति मिलेगी। शाह ने बजट में स्वच्छ भारत योजना का जिक्र किए जाने को लेकर कहा कि यह देश की सबसे बड़ी सफल कहानियों में से एक है। उन्होंने कहा कि इस मिशन के तहत अब तक छह करोड़ शौचालयों का निर्माण हुआ है। उन्होंने कहा कि कॉर्पोरेट कर को घटाकर 25 फीसदी करना भारत में कारेाबार करने को लेकर प्रतिस्पर्धी माहौल बनाने की दिशा में एक अहम पहल है।

हमारी मुख्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें।