चंडीगढ़ छेड़छाड़ मामला : भाजपा सांसद ने पार्टी अध्यक्ष का मांगा इस्तीफा , तो स्‍वामी भी जाएंगे कोर्ट


चंडीगढ़ में हाई प्रोफाइल छेड़छाड़ मामले में हरियाणा BJP प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला की मुश्किलें कम होते हुए नजर नहीं आ रही है। वही इस मामले मैं चंडीगढ़ पुलिस (एसएसपी) ईश सिंघल ने बताया कि अभी मामले की जांच जारी है। साथ ही उन्होंने कहा कि घटनास्थल के आसपास रोड पर मौजूद हर CCTV फुटेज को तलाशा जा रहा है ।

एसएसपी ने कहा कि पुलिस राजनीतिक दबाव किसी के दवाब में काम नहीं कर रही है वही अपने बचाव में उन्होंने दलील दी कि अगर राजनीतिक दबाव होता तो घटना की रात ही FIR दर्ज कैसे हो गई। शिकायत दर्ज होने के बाद आरोपी को गिरफ्तार भी किया गया।

एसएसपी ने बताया कि हर केस अलग होता है। उससे किसी दूसरे केस की तुलना नहीं की जा सकती है । वो बोले कि अगर किसी अतिरिक्त धारी की जरूरत पड़ेगी, तो जरूर लगाई जाएगी ।

वही चंडीगढ़ छेड़छाड़ मामले में भारतीय जनता पार्टी के सांसद राजकुमार सैनी ने बराला को इस्तीफा देने की नसीहत दे डाली।

आपको बता दें कि भाजपा के सांसद राजकुमार सैनी ने कहा कि वे व्यक्तिगग तौर पर यह मानते है कि बराला को इस मामले में इस्तीफा दे देना चाहिए ।

उन्होंने कहा कि यह गंभीर मसला है। पार्टी अध्यक्ष के बेटे पर एक युवती से छेड़छाड़ के आरोप लगे हैं। एेेसे में उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए।

वही भाजपा सांसद द्वारा बराला को पद से इस्तीफा देने की बात कहने के बाद अब भाजपा के राज्यसभा सदस्य सुब्रमण्यम स्वामी ने भाजपा नेता के बेटे के खिलाफ कोर्ट जाने की तैयार कर ली है।

यह जानकारी सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्विटर पर दी। भाजपा नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने आरोपियों को ‘नशे में धुत गुंडे’ बताते हुए कहा है कि वह IAS अफसर की बेटी के साथ छेड़छाड़ के इस मामले में PIL दाखिल करेंगे।

बता दें कि चंडीगढ़ में हाई प्रोफाइल छेड़छाड़ मामले में कांग्रेस ने हरियाणा BJP अध्यक्ष के बेटे को बचाने के आरोप में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है।

कांग्रेस के नेता सुरजेवाला ने कहा कि BJP आरोपी को बचाने के लिए चंडीगढ़ पुलिस पर दबाव बना रही है. क्या अमित शाह और BJP हरियाणा BJP अध्यक्ष का इस्तीफ़ा लेंगे? इस मामले में अपहरण की धाराएं क्यों नहीं लगाई गईं। ऐसा इसलिए क्योंकि आरोपी राज्य BJP प्रमुख का बेटा है। BJP जो कर रही है वह बिल्कुल एकतरफ़ा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम खट्टर, क्या यही सबका साथ, सबका विकास है?।

वही कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि आरोपी को बचाने के लिए 5 CCTV फुटेज को भी गायब कर दिया गया है। अब ये कहा जा रहा है कि 7 में से 5 CCTV काम ही नहीं कर रहे थे। ऐसा कैसे हो सकता है कि 7 में से 5 CCTV कैमरों ने एक साथ काम करना बंद कर दिया हो? सच ये है कि हम आरोपी के खिलाफ सबसे पुख्ता सबूत को खो चुके हैं। वहीं कांग्रेस के अन्य वरिष्ठ नेता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान पर निशाना साधा है।

इससे पहले इस मामले मैं राहुल ने ट्विटर पर लिखा है कि चंडीगढ़ में युवती के अपहरण की कोशिश और छेड़खानी की वारदात की मैं कड़ी निंदा करता हूं। बीजेपी सरकार को दोषियों को सजा दिलानी चाहिए न कि अपराधियों और उनकी घटिया मानसिकता का साथ देना चाहिए।

आपको बता दें कि आखिर क्या है ये पूरा मामला : हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला पर एक लडक़ी से छेड़छाड़ और अपहरण करने के प्रयास के आरोप हैं। घटना के वक्त विकास बराला के साथ उसका दोस्त आशीष कुमार भी मौजूद था। पुलिस के मुताबिक दोनों युवक घटना के वक्त नशे में थे। ये घटना उस वक्त हुई जब पीडि़त युवती देर रात करीब 12.35 बजे सेक्टर 9 से पंचकुला की तरफ जा रही थी। आरोप है कि टाटा सफारी में मौजूद दो युवकों ने सेक्टर 26 के मार्केट एरिया से पीछा करना शुरू किया।

लडक़ी ने आरोप लगाया कि आरोपियों ने कई उसकी कार को रोकने की कोशिश की और दूसरे किसी रास्ते पर जाने को मजबूर किया। लडक़ी की शिकायत के बाद दोनों युवकों को गिरफ्तार कर लिया गया था।

मगर गिरफ्तारी के कुछ घंटों बाद ही उन्हें जमानत दे दी गई। इससे पुलिस भी सवालों के घेरे में खड़ी हो गई है। विपक्षी पार्टियों को आरोप है कि पुलिस पर बीजेपी दबाब बना रही है और पुलिस आरोपी पर कार्रवाई करने में नाकाम हो रही है।


, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,