चुनावी मिशन में भाजपा की कवायद तेज


रायपुर: छत्तीसगढ़ में चुनावी मिशन में जुटी भाजपा ने अब अपने लक्ष्य को लेकर कवायदें तेज कर दी हैं। कार्यसमिति के साथ संगठन के स्तर पर कई मामले में प्रक्रिया आगे बढ़ाई गई है। इस मामले में अब नए सिरे से कार्यकर्ताओं को भी निर्देशित किया गया है।  पूर्व में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में नए सिरे से 65 सीटें जीतने का लक्ष्य तय किया गया था। शाह ने कम से कम 65 सीटों पर विजय के लिए काम करने कहा था।

वहीं अन्य सीटों पर भी कड़े मुकाबले के साथ परचम लहराने की तैयारियों पर चर्चा हुई है। राष्ट्रीय अध्यक्ष की ओर से बनाए गए प्लान के साथ अब प्रदेश संगठन ने कार्ययोजना तैयार की है। वहीं इसे संबंधित सीटों में क्रियान्वित करने भी नेताओं को जिम्मेदारी दी जा रही है। इसके तहत ही मंडल स्तर एवं बूथ स्तरों पर कार्यकर्ताओं को जोड़ा जाएगा। वहीं दूसरी ओर संगठन के आला नेता खुद सभी सीटों में दौरे करने के साथ इस पर पैनी नजर रखेंगे। चुनावी मिशन को लेकर भाजपा संगठन ने फिलहाल कांग्रेस को ही चुनौती के तौर पर सामने रखा है। हालांकि क्षेत्रीय दल छजकां के मुकाबले में नहीं होने के दावे किए हैं।

इसके बावजूद सत्ताधारी दल की तैयारी दोनों ही दलों की चुनौतियों से निपटने की है। यही वजह है कि क्षेत्रीय और विभिन्न समीकरणों में समन्वय के साथ रणनीतियों को आगे बढ़ाने पर जोर दिया गया है। बीते तीन चुनाव में भाजपा की सीटें 50 के आसपास ही रही है। इन सीटों में इजाफा नहीं होने से भी संगठन की चिंता बढ़ी है। इस बार 15 सीटें अधिक जीतकर पूर्ण बहुमत को लेकर कवायदें चल रही है।