निगम आयुक्त 30 तक पुलिस रिमांड पर


सतना: 22 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों पकड़े गये मघ्यप्रदेश के सतना नगर निगम के आयुक्त सुरेंद्र कुमार कथूरिया को आज यहां की एक विशेष अदालत (भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम) ने 30 जून तक के लिये रिमांड पर रीवा लोकायुक्त पुलिस के सुपुर्द कर दिया है। रीवा लोकायुक्त के उप पुलिस अधीक्षक देवेश पाठक ने बताया कि कल ट्रेप कार्रवाई के बाद निगम आयुक्त कथूरिया के सरकारी आवास में कुछ बेनामी संपत्ति के दस्तावेज और रिश्वत के 12 लाख रुपये एवं 10 लाख रुपए के सोने के अतिरिक्त 15 लाख 17 हजार रुपये की नगद राशि तथा बड़ी मात्रा में सोने-चांदी की ज्वेलरी भी मिली है।

श्री पाठक ने बताया कि कथूरिया के पास बेनामी संपत्ति मिलने के बाद जांच के दायरे को बढ़ाते हुये अब आरोपी के विरुद्ध अनुपातहीन संपत्ति का मामला भी दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि अब आगे की जांच के लिये कथूरिया को उनके गृह जिले खरसिया ले जाया जायेगा, जिसके लिये आज विशेष न्यायाधीश देवनारायण शुक्ल की अदालत में आरोपी को पेश कर 30 जून तक के लिये रिमांड पर लिया गया है। कथूरिया को कल लोकायुक्त पुलिस ने सिविल लाइन स्थित उसके निवास से 12 लाख रुपए नगद और सोना रिश्वत के रूप में लेते हुए गिरफ्तार किया था। निगम आयुक्त ने भरहुत नगर स्थित डॉ राजकुमार अग्रवाल के दो मंजिला मकान को तोडऩे के आदेश दिए थे। मकान तोडऩे की कार्रवाई रोकने के लिए कथूरिया ने डॉ. अग्रवाल से 40 लाख रुपए नगद और एक किलो सोना मांगा था। उनकी शिकायत पर ही लोकायुक्त पुलिस ने कार्रवाई की थी।