बयान दर्ज करवाने पहुंचे भूपेश के समर्थन में कांग्रेसियों ने घेरा ईओडब्ल्यू आफिस


रायपुर: सरकारी जमीन पर कथित अवैध कब्जे मामले में दर्ज मुकदमें में बयान दर्ज करवाने स्वत: अपनी पत्नी एवं मां के साथ पहुंचे छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल के समर्थन में अप्रत्य़ाशित रूप से एकत्रित कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं बड़ी संख्या में कार्यकर्ता आर्थिक अपराध अनुसंधान ब्यूरों (ईओडब्ल्यू) के कार्यालय परिसर में जबरिया घुस गए और घरना एवं नारेबाजी शुरू कर दी है। कांग्रेस सूत्रों एवं प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार दो दिन पहले श्री बघेल, उनकी पत्नी एवं मां समेत नजदीकी परिजनों के खिलाफ कथित रूप से 77 एकड़ सरकारी जमीन पर कब्जा करने के ईओडब्ल्यू के द्वारा दर्ज किए गए मामले में श्री बघेल आज स्वत: अपनी पत्नी एव मां के साथ बगैर ब्यूरों के तलब किए ही बयान दर्ज करवाने पहुंच गए। श्री बघेल के अचानक बयान दर्ज करवाने पहुंचने पर ब्यूरों के अधिकारी असमंजस में पड़ गए, और इस बारे में राय मशविरा कर ही रहे थे कि बघेल के ब्यूरों पहुंचने की जानकारी प्रदेश कांग्रेस कार्यालय पहुंच गई।

प्रदेश कार्यालय पर संगठन चुनावों के बारे में आहूत बैठक में हिस्सा लेने राज्यभर से विधायक, वरिष्ठ नेता एवं पार्टी पदाधिकारी पहुंचे थे।जानकारी मिलते ही सभी ने ईओडब्ल्यू कार्यालय की ओर कूच कर दिया। नेता प्रतिपक्ष टी.एस। सिंहदेव, पूर्व केन्द्रीय मंत्री डा. चरण दास महंत समेत तमाम विधायक नेता ईओडब्ल्यू कार्यालय पहुंच गए। भारी भीड़ के मद्देनजर कार्यालय के गेट पर ताला लगा दिया गया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भीड़ ने गेट को जबरिया खुलवा लिया और परिसर में प्रवेश कर गए। कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने कार्यालय परिसर में मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह, उनकी सरकार एवं भाजपा के खिलाफ धरना एवं नारेबाजी शुरू कर दी है। उनका आरोप है कि लगभग ढ़ाई दशक पुराने मामले में मामला दर्ज कर कांग्रेस की छवि खराब करने की कोशिश की जा रही है। कांग्रेस एवं प्रदेश अध्यक्ष सरकार के खिलाफ नान घोटाले समेत कई मामलों में लगातार आक्रामक रहे है जिन्हे दबाने की कोशिश की जा रही है। ईओडब्ल्यू कार्यालय के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ है। शान्ति बनाए रखने के लिए वहां अतिरिक्त पुलिस बल भेजा गया है।

(वार्ता)