बुर्कापाल घटना के बाद उत्पन्न परिस्थितियों की कांग्रेस करेगी जांच


जगदलपुर: छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के बुर्कापाल में घटित माओवादी घटना के बाद शहीद हुए जवानों तथा उसके बाद वहां उत्पन्न हुई परिस्थितियों की जांच कांग्रेस करेगी। इसके लिए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और भानुप्रतापपुर विधायक मनोज मंडावी के नेतृत्व में जांच कमेटी का गठन किया गया है। इस जांच कमेटी में 17 सदस्यीय दल बनाए गए हैं। ज्ञात हो कि पिछले महीने 24 अप्रैल को बुर्कापाल में माओवादियों ने हमला कर दिया जिसमें 25 जवान शहीद हो गये थे। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अनुसार बुर्कापाल की घटना में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवान शहीद हुए थे। इसके बाद से उस क्षेत्र के ग्रामीण प्लान कर गए हैं जिसको गंभीरता से लेते हुए प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा घटना की जांच हेतु 17 सदस्य दल बनाया है।

इस दल का प्रमुख अजीत जोगी शासनकाल में राज्य गृहमंत्री रहे मनोज मंडावी को जिम्मेदारी सौंपी गई है। उनके साथ और चार विधायक, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य, महिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष, यूथ कांग्रेस के जिला अध्यक्ष एवं निगम के पार्षद तथा दो ब्लॉक अध्यक्षों को इसमें शामिल किया गया है। यह टीम अति शीघ, घटनास्थल पर जाकर इसका जायजा लेगी। साथ ही बुर्कापाल के ग्रामीणों से चर्चा भी करेगी। ज्ञात हो कि इन दिनों बुर्कापाल राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियों में है। प्रदेश एवं केंद सरकार क्षेत्र में माओवादियों के खिलाफ बड़ा अभियान चलाना चाहते हैं जिसका रोड मैप तैयार हो गया है। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस पार्टी भी अब इस मुद्दे पर रिपोर्ट मिलने के बाद अपना स्टैंड तय करेगी।

(वार्ता)