अब उद्योगों का होगा आनलाइन नवीनीकरण


रायपुर छत्तीसगढ़ में पर्यावरण संरक्षण को लेकर राज्य सरकार ने सम्मति देने के निर्णय पर नए फैसले लिए हैं। वहीं इस मामले में उद्योगों को सम्मति अब आनलाइन भी दी जा सकेगी। राज्य में उद्योगों पर पर्यावरण प्रदूषण को लेकर लगातार शिकायतें मिलती रही है। कई उद्योग बिना पर्यावरणीय मापदंडों का पालन किए ही संचालित हो रहे हैं। राज्य शासन ने अब उद्योगों को आनलाइन ही पर्यावरणीय सम्मति के साथ नवीनीकरण की सुविधा दी है। हालांकि इस मामले में संबंधित उद्योगों को सेल्फ सर्टिफिकेशन देना अनिवार्य होगा।

पर्यावरण संरक्षण मंडल के फैसले के तहत अब उद्योगों को पर्यावरणीय सम्मति का आसानी से नवीनीकरण कर दिया जाएगा। इससे पहले नवीनीकरण के लिए ही उद्योगों को कई चक्कर लगाने पड़ते थे। वहीं लगातार भटकने के बाद कई उद्योगों की ओर से नवीनीकरण से पल्ला भी झाड़ लिया जाता रहा है। इससे समय की बचत के साथ मंडल के कामकाज में भी तेजी आने के दावे किए गए हैं।

हालांकि नवीनीकरण के लिए सेल्फ सर्टिफिकेशन के दौरान यह बताा होगा कि संबंधित उद्योग ने पूर्व में पर्यावरणीय सम्मति के सभी मापदंडों और नियमों का अक्षरश: पालन किया है। वहीं अधिरोपित शर्तों का कहीं उल्लंघन नहीं किया गया है। बोर्ड की बैठक आवास एवं पर्यावरण विभाग के प्रमुख सचिव अमन सिंह की मौजूदगी में हुई।

हालांकि आंशिक तौर पर शर्तों के पालन के लिए समय की मांग करने की स्थिति में निर्धारित प्रक्रिया के तहत बैंक गारंटी के साथ आवेदन करना होगा। वहीं विस्तृत कार्ययोजना का विवरण देने की भी बाध्यता होगी। हालांकि इस तरह प्राप्त उद्योगों के आवेदनों पर निरीक्षण नहीं किया जाएगा। उद्योगों को विभिन्न रंगों की श्रेणियों के आधार पर नवीनीकरण की सुविधा भी सभी दस्तावेजों और शर्तों के पालन की प्रतिबद्धता के साथ दी जाएगी। वर्तमान में यह प्रक्रिया काफी लंबी और जटिल है। यही वजह है कि उद्योगों की ओर से कोई दिलचस्पी नहीं ली जाती रही है।